हरियाणा में खेलों के स्वर्ण पदक विजेता को मिलेगा अब एचसीएस और एचप�         # बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी के घर पर सीबीआई का छापा         # विपक्ष के खिलाफ सरकार धरने पर, मोदी समेत BJP सांसद भूख हड़ताल पर         # 50 मीटर एयर रायफल में तेजस्विनी ने जीता सिल्वर मेडल          # बजट सत्र समाप्त, लोकसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित...         # तकनीकी वजह से मेट्रो रेल सेवाएं प्रभावित...          # लिवरपूल ने 10 साल बाद सेमीफाइनल में बनाई जगह...          # स्वर साम्राज्ञी लता ने राज्यसभा के वेतन का चेक तक नहीं छुआ!...          # देश में नेशनल चिल्ड्रेन ट्रिब्यूनल की जरूरत : कैलाश सत्यार्थी         # 2022 तक हिमाचल को जैविक राज्य बनाने का लक्ष्य: डॉ. मार्कंडेय...          # छात्रों की करियर कौंसलिंग हेतु तैयार की जा रही योजना: अनुराग...          # सरकार द्वारा गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को नोटिस, बिफरे प्राईवेट स्कूल संघ संचालक...          # शहीदी स्मारक के लिए 25 को जारी किए जाएंगे टैंडर : स्वास्थ्य मंत्री         # पंजाब को केन्द्र सरकार का तोहफा, मोहाली मेडिकल कॉलेज को मिली हरी झंडी         # पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पंजाब विश्वविद्यालय को 3,500 किताबें दान की...         # मुख्यमंत्री ने मांगी बटाला शुगर मिल के बारे में प्रोजेक्ट रिपोर्ट...          # बीएसएफ ने ढेर किया पाकिस्तानी तस्कर, 20 करोड़ की हेरोइन बरामद...          # अल्जीरिया का मिलिटरी प्लेन क्रैश, 257 से ज्यादा लोगों के मरने की आशंका...          हरियाणा में अब तक डेढ़ करोड़ एलईडी बल्ब वितरित...          भारत बंद : हिंसक घटनाओं की जांच के लिए हरियाणा में गठित होगी कमेटी...          प्रदेश की मंडियों में 16.66 लाख टन गेहूं की आवक...          राष्ट्रमंडल खेल: फाइनल में पहुंचे मुक्केबाज मनीष के घर में खुशी का माहौल...          सांसद दुष्यंत ने मंत्री विज को भेजा मानहानि का नोटिस...          फर्जीवाड़ा कर पेंशन लेने वालों से होगी 50 प्रतिशत की वसूली: खट्टर...          किसानों को राहत, बारिश से खराब फसलों की होगी स्पेशल गिरदावरी ..         आटो में छेड़छाड़ करने पर महिला कराटे चैंपियन ने की ट्रैफिक पुलिसकर्मी की धुनाई, घसीट कर ले गई थान         मुझे सरकार चलाना न सिखाएं सुखबीर : कैप्टन         वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने बांटी 65 लाख की ग्रांटें...         
News Description
मतदान रद करवाने के लिए डीसी से मिले निवर्तमान प्रधान और डिप्टी

जींद नरवाना नगरपरिषद के चेयरमैन पद से हटाए गए सुरेश कुमार पप्पू ने शुक्रवार को वाइस चेयरमैन रहे कृष्ण मोर समेत सात पार्षदों के साथ डीसी से मुलाकात की और मतदान को रद करवाने की मांग की। डीसी को सौंपे शपथ पत्र में सुरेश पप्पू और कृष्ण मोर ने कहा है कि अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान के समय निर्वाचन अधिकारी ने पार्षदों से ओपन में वोट डलवाए, जो नियमों के खिलाफ है। इसके अलावा उनके पक्ष के पार्षदों को नगरपरिषद के अंदर नहीं घुसने दिया, जिस कारण वो वोट नहीं डाल सके। डीसी से मिलने वालों में पार्षद सुरेंद्र मोर, कैलाश ¨सगला, राजू एमसी, अंजलि गुप्ता, सुनीता गोयल भी शामिल थे।

डीसी से मुलाकात के बाद निवर्तमान चेयरमैन सुरेश पप्पू ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि अविश्वास प्रस्ताव के दौरान सरेआम लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाई गई। खुद उन्हें काफी वाद-विवाद के बाद नगरपरिषद के अंदर जाने दिया गया, जबकि उनके पक्ष के पार्षदों को बाहर ही रोक दिया। सुरेश ने यह भी कहा कि बैलेट पेपर प्रधान पद के चुनाव के लिए बनाए गए थे, जबकि मतदान अविश्वास प्रस्ताव पर होना था। सुरेश ने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव के समय वो¨टग गोपनीय होती है और परदे के पीछे मुहर लगनी होती है। लेकिन निर्वाचन अधिकारी एसडीएम डॉ. किरण ¨सह ने ओपन में मेज पर बैलेट पेपर रखवाया पार्षदों से जबर्दस्ती लिखवाया कि वे चेयरमैन के खिलाफ वोट देना चाहते हैं। उन्होंने इसका विरोध किया तो एसडीएम ने उन्हें चुपचाप बैठने और केस दर्ज करवाकर अंदर करवाने की धमकी दे दी। सुरेश ने यह भी दावा किया कि एक पार्षद ने उन्हें बताया कि उन्होंने बैलेट पेपर पर प्रधान व उपप्रधान के खिलाफ कुछ भी नहीं लिखा और सिर्फ हस्ताक्षर किए हैं। यह वोट रद होना चाहिए था, जबकि उसे भी अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में जोड़ दिया। यही नहीं, चुनाव के बाद किसी को यह भी नहीं दिखाया कि किसको कितने वोट मिले हैं। उन्होंने सभी बैलेट पेपर की जांच करवाने और चुनाव को रद करने की मांग की। वहीं, एसडीएम ने कहा कि सभी आरोप गलत है। नियमों के तहत ही वो¨टग करवाई गई है।

--सीडी का सच, ओपन में हुआ मतदान

निवर्तमान चेयरमैन द्वारा जारी सीडी में दिखाई दे रहा है कि ओपन में बैलेट बॉक्स रखवाया गया है। पार्षद भी ओपन में बैलेट पेपर पर लिखकर मोहर लगा रहे हैं। एक महिला पार्षद तो निर्वाचन अधिकारी से भी यह पूछ रही हैं कि यही लिखना है चेयरमैन के खिलाफ वोट देना है। सभी पार्षद बैलेट पेपर को नगरपरिषद कर्मचारी को सौंप रहे हैं।

--समय से पहले करवाई वो¨टग: मोर

कुर्सी से हटाए गए वाइस चेयरमैन कृष्ण मोर ने आरोप लगाया कि वो¨टग का समय 12 बजकर 10 मिनट था, जबकि निर्वाचन अधिकारी ने 11 बजकर 45 मिनट पर ही वो¨टग करवा दी। इससे कई पार्षद उनके पक्ष में वोट नहीं डाल पाए। मोर ने यह भी कि उनके पक्ष के पार्षदों को भी पुलिस ने नगरपरिषद कार्यालय के अंदर नहीं जाने दिया गया।

--वर्जन---

नरवाना नगरपरिषद के निवर्तमान चेयरमैन समेत सात पार्षद कुछ लोगों के साथ मिलने आए थे। उन्होंने शपथ पत्र दिया है और ओपन में मतदान करवाने के आरोप लगवाए हैं। मेरे पास मतदान प्रक्रिया की सीडी आ चुकी है। उसे देखकर एमसी एक्ट के तहत जो भी कार्रवाई होगी, वह की जाएगी।