हरियाणा में खेलों के स्वर्ण पदक विजेता को मिलेगा अब एचसीएस और एचप�         # बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी के घर पर सीबीआई का छापा         # विपक्ष के खिलाफ सरकार धरने पर, मोदी समेत BJP सांसद भूख हड़ताल पर         # 50 मीटर एयर रायफल में तेजस्विनी ने जीता सिल्वर मेडल          # बजट सत्र समाप्त, लोकसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित...         # तकनीकी वजह से मेट्रो रेल सेवाएं प्रभावित...          # लिवरपूल ने 10 साल बाद सेमीफाइनल में बनाई जगह...          # स्वर साम्राज्ञी लता ने राज्यसभा के वेतन का चेक तक नहीं छुआ!...          # देश में नेशनल चिल्ड्रेन ट्रिब्यूनल की जरूरत : कैलाश सत्यार्थी         # 2022 तक हिमाचल को जैविक राज्य बनाने का लक्ष्य: डॉ. मार्कंडेय...          # छात्रों की करियर कौंसलिंग हेतु तैयार की जा रही योजना: अनुराग...          # सरकार द्वारा गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को नोटिस, बिफरे प्राईवेट स्कूल संघ संचालक...          # शहीदी स्मारक के लिए 25 को जारी किए जाएंगे टैंडर : स्वास्थ्य मंत्री         # पंजाब को केन्द्र सरकार का तोहफा, मोहाली मेडिकल कॉलेज को मिली हरी झंडी         # पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पंजाब विश्वविद्यालय को 3,500 किताबें दान की...         # मुख्यमंत्री ने मांगी बटाला शुगर मिल के बारे में प्रोजेक्ट रिपोर्ट...          # बीएसएफ ने ढेर किया पाकिस्तानी तस्कर, 20 करोड़ की हेरोइन बरामद...          # अल्जीरिया का मिलिटरी प्लेन क्रैश, 257 से ज्यादा लोगों के मरने की आशंका...          हरियाणा में अब तक डेढ़ करोड़ एलईडी बल्ब वितरित...          भारत बंद : हिंसक घटनाओं की जांच के लिए हरियाणा में गठित होगी कमेटी...          प्रदेश की मंडियों में 16.66 लाख टन गेहूं की आवक...          राष्ट्रमंडल खेल: फाइनल में पहुंचे मुक्केबाज मनीष के घर में खुशी का माहौल...          सांसद दुष्यंत ने मंत्री विज को भेजा मानहानि का नोटिस...          फर्जीवाड़ा कर पेंशन लेने वालों से होगी 50 प्रतिशत की वसूली: खट्टर...          किसानों को राहत, बारिश से खराब फसलों की होगी स्पेशल गिरदावरी ..         आटो में छेड़छाड़ करने पर महिला कराटे चैंपियन ने की ट्रैफिक पुलिसकर्मी की धुनाई, घसीट कर ले गई थान         मुझे सरकार चलाना न सिखाएं सुखबीर : कैप्टन         वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने बांटी 65 लाख की ग्रांटें...         
News Description
गौरव पटों के लिए जुटाए तथ्यों में मिलीं गलतियां, एडीसी ने अधिकारियों को फटकारा

हिसार : गांवों की गौरवगाथाएं दर्शाने वाले गौरव पटों की स्थापना के लिए सभी नौ खंडों के पंचायत अधिकारियों ने अपने-अपने खंडों के पांच-पांच गांवों के विवरण बृहस्पतिवार को अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालय में बैठक के दौरान एडीसी एएस मान के समक्ष प्रस्तुत किए। एडीसी ने गौरव पटों के लिए संकलित किए गए तथ्यों का अध्ययन किया। एडीसी को अधिकारियों के जुटाए तथ्यों में काफी गलतियां मिलीं। उन्होंने अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि इस काम को सतर्कता के साथ पूरा करना है। किसी भी गौरव पटों पर गलतियां स्वीकार नहीं की जाएंगी। अगर ऐसी गलती हुई तो संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। उन्होंने कमियों के सुधार के संबंध में अधिकारियों को व्यापक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अगली बैठक में अधिकारी अपेक्षित सुधार सहित नए गांवों के विवरण साथ लेकर आएं।

उल्लेखनीय है कि जिला के सभी गांवों में वहां के ऐतिहासिक महत्व, गांव की उपलब्धियों, वहां के महान व्यक्तित्वों, खिलाड़ियों और स्वतंत्रता सेनानियों के योगदान को दर्शाते गौरव पटों की स्थापना की जानी है। इसके लिए सभी गांवों के गौरव पटों के लिए विवरण जुटाने के लिए विभिन्न विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। कार्य की समीक्षा के लिए इस कार्य के लिए गठित समिति के सदस्यों की बैठकें भी अतिरिक्त उपायुक्त की अध्यक्षता में बैठक होती हैं। इस कड़ी में पिछली बार की बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त एएस मान ने पंचायत अधिकारियों को कम से कम पांच गांवों के विवरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिए थे।

इसी संदर्भ में एडीसी कार्यालय में आयोजित एक बैठक के दौरान अतिरिक्त उपायुक्त एएस मान के समक्ष पंचायत अधिकारियों ने गौरव पटों के लिए पांच-पांच गांवों के विवरण प्रस्तुत किए। अतिरिक्त उपायुक्त ने सभी गांवों के विवरणों का बारीकी से अध्ययन किया। उन्होंने विवरणों में कई कमियों की ओर अधिकारियों का ध्यान दिलाते हुए तथ्यों में शुद्धता का पूर्ण ध्यान रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अधीनस्थ कर्मचारियों से संकलित करवाए गए तथ्यों को अधिकारी स्वयं सत्यापित करें। तथ्यों के सत्यापन के बिना इन्हें गौरव पटों पर अंकित नहीं करवाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि जिस गांव के तथ्यों में गलतियां पाई जाएंगी उसके लिए संबंधित अधिकारी स्वयं जिम्मेदार होगा।

ऐसे करें काम

उन्होंने कहा कि गौरव पटों के लिए तथ्यों के संकलन में अधिकारी गांव के नंबरदार, सेवानिवृत्त शिक्षकों व गणमान्य बुजुर्गो की मदद लें ताकि तथ्य वेरीफाई किए जा सकें। उन्होंने कहा कि सभी तथ्य एकत्र होने के बाद ¨हदी विशेषज्ञों से भाषा व व्याकरण की शुद्धता करवाई जाएगी ताकि गलत तथ्य अंकित न होने पाएं। उन्होंने ग्रामीणों से भी आह्वान किया कि वे अपने गांव के गौरव के संबंध में प्रशासन को सूचित करने के लिए आगे आएं, क्योंकि गांव का गौरव पट्ट गांव की उपलब्धियों को दर्शाने वाला एक स्थाई स्तंभ होगा जिस पर पूरे गांव को गर्व होगा।

ये अधिकारी रहे मौजूद

इस अवसर पर डीडीपीओ अशवीर ¨सह, आरडीए के जिला परियोजना अधिकारी डॉ. राजकुमार नरवाल, समिति सदस्य डीआइपीआरओ पारू लता, एसडीओ प्रेम ¨सह, पेशल कुमार, नरेंद्र कुंडू, नरेश कुमार मेहता, अभिषेक नैना, विजय कुमार व जेई इंद्र ¨सह सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।