हरियाणा में खेलों के स्वर्ण पदक विजेता को मिलेगा अब एचसीएस और एचप�         # बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी के घर पर सीबीआई का छापा         # विपक्ष के खिलाफ सरकार धरने पर, मोदी समेत BJP सांसद भूख हड़ताल पर         # 50 मीटर एयर रायफल में तेजस्विनी ने जीता सिल्वर मेडल          # बजट सत्र समाप्त, लोकसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित...         # तकनीकी वजह से मेट्रो रेल सेवाएं प्रभावित...          # लिवरपूल ने 10 साल बाद सेमीफाइनल में बनाई जगह...          # स्वर साम्राज्ञी लता ने राज्यसभा के वेतन का चेक तक नहीं छुआ!...          # देश में नेशनल चिल्ड्रेन ट्रिब्यूनल की जरूरत : कैलाश सत्यार्थी         # 2022 तक हिमाचल को जैविक राज्य बनाने का लक्ष्य: डॉ. मार्कंडेय...          # छात्रों की करियर कौंसलिंग हेतु तैयार की जा रही योजना: अनुराग...          # सरकार द्वारा गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को नोटिस, बिफरे प्राईवेट स्कूल संघ संचालक...          # शहीदी स्मारक के लिए 25 को जारी किए जाएंगे टैंडर : स्वास्थ्य मंत्री         # पंजाब को केन्द्र सरकार का तोहफा, मोहाली मेडिकल कॉलेज को मिली हरी झंडी         # पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पंजाब विश्वविद्यालय को 3,500 किताबें दान की...         # मुख्यमंत्री ने मांगी बटाला शुगर मिल के बारे में प्रोजेक्ट रिपोर्ट...          # बीएसएफ ने ढेर किया पाकिस्तानी तस्कर, 20 करोड़ की हेरोइन बरामद...          # अल्जीरिया का मिलिटरी प्लेन क्रैश, 257 से ज्यादा लोगों के मरने की आशंका...          हरियाणा में अब तक डेढ़ करोड़ एलईडी बल्ब वितरित...          भारत बंद : हिंसक घटनाओं की जांच के लिए हरियाणा में गठित होगी कमेटी...          प्रदेश की मंडियों में 16.66 लाख टन गेहूं की आवक...          राष्ट्रमंडल खेल: फाइनल में पहुंचे मुक्केबाज मनीष के घर में खुशी का माहौल...          सांसद दुष्यंत ने मंत्री विज को भेजा मानहानि का नोटिस...          फर्जीवाड़ा कर पेंशन लेने वालों से होगी 50 प्रतिशत की वसूली: खट्टर...          किसानों को राहत, बारिश से खराब फसलों की होगी स्पेशल गिरदावरी ..         आटो में छेड़छाड़ करने पर महिला कराटे चैंपियन ने की ट्रैफिक पुलिसकर्मी की धुनाई, घसीट कर ले गई थान         मुझे सरकार चलाना न सिखाएं सुखबीर : कैप्टन         वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने बांटी 65 लाख की ग्रांटें...         
News Description
एनएमसी बिल के विरोध में निजी चिकित्सकों का पैदल मार्च

नारनौल : केंद्र सरकार द्वारा गत शुक्रवार को संसद में पेश किए गए नेशनल मेडिकल कमीशन (एनएमसी) बिल के खिलाफ मंगलवार को शहर के निजी अस्पतालों ने हड़ताल रखी। हड़ताल के दौरान चिकित्सकों ने ओपीडी बंद रही, जबकि आपातकालीन मरीजों के लिए अस्पताल खुले रहे। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के तत्वावधान में चिकित्सकों ने आइटीआइ  के सामने स्थित वर्मा अस्पताल से लघु सचिवालय तक पैदल मार्च किया तथा वहां पर एनएमसी  के विरोध में उपायुक्त डा. गरिमा मित्तल  को एक ज्ञापन सौंपा।

इस मौके पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) के प्रधान डा. एमआर  मक्कड़ ने कहा कि अगर एनएमसी  बिल पारित हो गया तो मेडिकल लाइन का न केवल स्तर गिर जाएगा, बल्कि यह पेशा पूरी तरह बर्बाद हो जाएगा। उन्होंने बताया कि एनएमसी  की कमेटी ही सरकार ने गलत तरीके से बनाई है। पहले इसमें केवल डाक्टर शामिल थे, लेकिन अब 30 में से 25  सदस्य गैर-चिकित्सक शामिल कर दिए गए हैं। जिन्हें इस लाइन का ज्ञान व अनुभव ही नहीं, वे कैसा कानून बनाएंगे, आसानी से कल्पना की जा सकती है। उन्होंने कहा कि इस बिल में होम्यापैथी  एवं आयुर्वेद के चिकित्सकों को महज 3-4  महीने का कोर्स कराकर एमबीबीएस  की डिग्री देने का प्रावधान किया गया है। यह सरासर गलत है और यह मरीजों के साथ खिलवाड़ सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि एमबीबीएस की डिग्री बारहवीं (मेडिकल) के बाद करीब पांच साल का कोर्स करने के बाद मिलती है तथा प्रैक्टि्स  के लिए इंटर्नशिप  एग्जाम  अनिवार्य रूप से क्लीयर  करना पड़ता है, लेकिन होम्यापैथी  या आयुर्वेद चिकित्सकों द्वारा संक्षिप्त कोर्स करने पर ही वे एमबीबीएस  की प्रैक्टिस कर पाएंगे और उन पर इंटर्नशिप  एग्जाम  क्लीयर  करने की कोई शर्त नहीं होगी। उन्होंने कहा कि अप्रशिक्षित एवं अकुशल चिकित्सक मरीजों का कैसा ईलाज  करेंगे, यही सोचकर रोंगटे खड़े हो जाते हैं।

यह मरीजों की जान के साथ खिलवाड़ होगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में मेडिकल कालेज खोलने के लिए बहुत सारे नियमों का पालन करना पड़ता है और सीमित सीटों की इजाजत बड़ी मुश्किल से मिल पाती है। मगर नए बिल के अनुसार कोई भी मेडिकल कालेज खोल सकेगा। इसके लिए महज एक बार मेडिकल कालेज खोलने की अनुमति लेनी होगी। सीटें मनमर्जी बढ़ा सकेंगे। इससे सीधा भ्रष्टाचार बढ़ेगा तथा चिकित्सा क्षेत्र में जबरदस्त गिरावट आएगी। इसलिए सरकार को यह बिल पास नहीं करना चाहिए।