# क्रीमी लेयर के बहाने पदोन्नति में आरक्षण बंद नहीं कर सकते : मोदी सरकार          # मध्यपूर्व के लिए अमेरिकी शांति योजना स्वीकार्य नहीं : अब्बास         # पहले नोटबंदी फिर जीएसटी ने जनता की कमर तोड़ी : हुड्डा         # स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के खिलाफ कोर्ट पहुंचे सांसद दुष्यंत          # 300 से ज्यादा दलित परिवारों ने अपनाया बौद्ध धर्म         # भारत को विदेश में पहली बार जीत दिलाने वाले कप्तान अजीत वाडेकर का निधन         # नहीं रहे अटल बिहारी वाजपेयी , देश भर में शोक की लहर          # वाजपेयी के निधन पर बोले पीएम मोदी- मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं         # 93 साल की उम्र में वाजपेयी का निधन, देशभर में शोक की लहर          # थोड़ी देर में अटल का पार्थिव ले जाया जाएगा कृष्णा मेनन मार्ग ते आवास पर         # वाजपेयी का निधन देश, राजनीति और भाजपा के लिए एक अपूर्णीय क्षति - मुख्यमंत्री मनोहर लाल        
News Description
आज से आठ दिनों में मिलेगा ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट

गुरुग्राम लाइसेंस कॉलोनियों में मकानों के ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट मिलने में होने वाली देरी का नए साल से समाधान हो जाएगा। शनिवार को टाउन एंड कंट्री प्ला¨नग के जिला नगर योजनाकार आरएस बाट ने लाइसेंस कॉलोनियों मेंमकानों के सेल्फ सर्टिफिकेशन पॉलिसी के तहत पांच दिन में नक्शे पास करने व आठ दिन के भीतर ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट के आवेदन पर निर्णय लेने का आदेश जारी किया है। यह आदेश एक जनवरी 2018 से लागू हो जाएगा।

मिलेगा मुश्किलों से छुटकारा

लाइसेंस कालोनियों में बनने वाले मकानों में लोगों को नक्शे पास कराने व घरों के ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट लेने में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। इसे लेकर लगातार मुख्यमंत्री के पास शिकायतें भी पहुंच रही थीं। विभाग की जटिल प्रक्रिया के कारण कई बार तो नक्शे पास करने में एक महीने व ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट लेने में से तीन महीने तक का समय लग जाता था। इसे लेकर मुख्यमंत्री ने हरियाणा बि¨ल्डग कोड 2017 के चैप्टर दो में पांच दिन के भीतर नक्शे पास करने व आक्यूपेशन सर्टिफिकेट प्राप्त करने के लिए चैप्टर चार में संशोधन कर आठ दिन के समय का प्रावधान तय किया था।

क्या है सेल्फ सर्टिफिकेशन पॉलिसी

इस पॉलिसी के तहत आर्किटेक्ट पूरा एफएआर (फ्लोर एरिया रेशो) माप कर वॉयलेशन के चार्ज ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट के आवेदन के साथ नगर योजनाकार कार्यालय में जमा कराएगा। आठ दिन के भीतर जिला नगर योजनाकार कार्यालय इस पर अपना निर्णय लेगा। आर्किटेक्ट के प्रमाणित करने के बाद भी यदि जांच के दौरान साइट पर नियमों का उल्लंघन पाया जाता है तो ऑर्किटेक्ट को भी ब्लैकलिस्ट कर दिया जाएगा।

अब तक पांच दिन में पांच सौ वर्ग मीटर के प्लॉट का नक्शा पास होता था लेकिन अब एक हजार वर्ग मीटर प्लॉट के नक्शे भी पांच दिन में ही पास किए जाएंगे। इसी प्रकार आठ दिन के भीतर ऑक्यूपेशन के आवेदन पर निर्णय लिया जाएगा। नए नियमों के बाद लोगों को होने वाली परेशानी में काफी कमी आएगी।