हरियाणा में खेलों के स्वर्ण पदक विजेता को मिलेगा अब एचसीएस और एचप�         # बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी के घर पर सीबीआई का छापा         # विपक्ष के खिलाफ सरकार धरने पर, मोदी समेत BJP सांसद भूख हड़ताल पर         # 50 मीटर एयर रायफल में तेजस्विनी ने जीता सिल्वर मेडल          # बजट सत्र समाप्त, लोकसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित...         # तकनीकी वजह से मेट्रो रेल सेवाएं प्रभावित...          # लिवरपूल ने 10 साल बाद सेमीफाइनल में बनाई जगह...          # स्वर साम्राज्ञी लता ने राज्यसभा के वेतन का चेक तक नहीं छुआ!...          # देश में नेशनल चिल्ड्रेन ट्रिब्यूनल की जरूरत : कैलाश सत्यार्थी         # 2022 तक हिमाचल को जैविक राज्य बनाने का लक्ष्य: डॉ. मार्कंडेय...          # छात्रों की करियर कौंसलिंग हेतु तैयार की जा रही योजना: अनुराग...          # सरकार द्वारा गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को नोटिस, बिफरे प्राईवेट स्कूल संघ संचालक...          # शहीदी स्मारक के लिए 25 को जारी किए जाएंगे टैंडर : स्वास्थ्य मंत्री         # पंजाब को केन्द्र सरकार का तोहफा, मोहाली मेडिकल कॉलेज को मिली हरी झंडी         # पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पंजाब विश्वविद्यालय को 3,500 किताबें दान की...         # मुख्यमंत्री ने मांगी बटाला शुगर मिल के बारे में प्रोजेक्ट रिपोर्ट...          # बीएसएफ ने ढेर किया पाकिस्तानी तस्कर, 20 करोड़ की हेरोइन बरामद...          # अल्जीरिया का मिलिटरी प्लेन क्रैश, 257 से ज्यादा लोगों के मरने की आशंका...          हरियाणा में अब तक डेढ़ करोड़ एलईडी बल्ब वितरित...          भारत बंद : हिंसक घटनाओं की जांच के लिए हरियाणा में गठित होगी कमेटी...          प्रदेश की मंडियों में 16.66 लाख टन गेहूं की आवक...          राष्ट्रमंडल खेल: फाइनल में पहुंचे मुक्केबाज मनीष के घर में खुशी का माहौल...          सांसद दुष्यंत ने मंत्री विज को भेजा मानहानि का नोटिस...          फर्जीवाड़ा कर पेंशन लेने वालों से होगी 50 प्रतिशत की वसूली: खट्टर...          किसानों को राहत, बारिश से खराब फसलों की होगी स्पेशल गिरदावरी ..         आटो में छेड़छाड़ करने पर महिला कराटे चैंपियन ने की ट्रैफिक पुलिसकर्मी की धुनाई, घसीट कर ले गई थान         मुझे सरकार चलाना न सिखाएं सुखबीर : कैप्टन         वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने बांटी 65 लाख की ग्रांटें...         
News Description
दौलत दोबारा आ सकती है वक्त नहीं : कंवर महाराज

 भिवानी: बीता वक्त कभी वापस नहीं आता। दौलत चली जाए तो दोबारा आ सकती है लेकिन वक्त दोबारा नही आता। साल 2017 का अंतिम दिन और नए साल 2018 का पहला दिन बहुत ही अनमोल साबित हो रहा है। वह इसलिए भी कि आप सब सौभाग्यशाली हो कि साल का अंतिम दिन सत्संग में बिता रहे हो और नए साल के पहले दिन भी बड़ा सत्संग होगा। वक्त की कीमत पहचानो। जिसने वक्ता को पहचान लिया वक्ता उसका भी ध्यान रखता है। राधा स्वामी दिनोद के परम संत भिवानी के सत्संग भवन में सेवादारों को सत्संग के दौरान प्रवचन दे रहे थे। गुरु महाराज ने फरमाया की हमें सबसे पहले खुद की जांच पड़ताल करनी चाहिए। औरो की गलती देखने से पहले स्वयं की गलतियां देखो। ये समझ विवेक से आती है। विवेक से कार्य करना चाहिए। तन से मन से धन से जितनी हम औरों की मदद कर सकते हैं हमें करनी चाहिए। मनुष्य चोला परमात्मा का इनाम है जो हर किसी को नही मिलता। कितनी हैरानी की बात है कि हम ये चोला झगड़े में आनंद में और रस में फंस कर बर्बाद करते हैं। अगर इंसानी चोला मिला है तो हम सत्कर्म करके गुरु की शरण पा कर सत्संग करके इसका लाभ उठाना चाहिए। कंवर साहेब महाराज ने फरमाया कि संत की संगति का एक पल भी बहुत फायदेमंद है। संतों के वचन की पालना करके हमें ये विचार करना चाहिए कि हम भक्ति के लायक हैं। न हम सत्संग के मायने समझते है न उसे अपनाते है। हम सब परमात्मा की संतान हैं। वो अच्छे में भी और बुरे में भी है। उन्होंने कहा कि लोगों का विश्वास पाखंडी लोगों के कारण टूटा है। पूरे गुरु की खोज करो। ये सही है कि संतों की कोई पहचान नही होती लेकिन पूरे गुरु के कुछ लक्षण होते है जो बाहरी रूप से भी प्रकट होते है। जो गुरु अपनी जायदाद बनाता है ऐशो आराम में जीवन बिताता है वो महात्मा नही है। गुरु महाराज ने कहा कि सेवा नि:स्वार्थ भाव से होनी चाहिए। अपने सुख आराम को त्याग कर की गई सेवा भक्ति सबसे बड़ी होती है। सेवा में प्रेम की परख होती है। गुरु दरबार की सेवा से बड़ा कुछ भी नही है। सेवा में ना चतुराई की जरूरत है ना बुद्धि की। आप सत्संग के सेवादार हो इसलिए आप से अपेक्षा और ज्यादा बढ़ जाती है। कंवर महाराज ने कहा कि अपने जीवन को इस तरह बनाओ की आप को देखकर दूसरे भी आपकी राही पर चलना चाहें। सेवा का लाभ प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से मिलता है। सत्संग वो है जहां नाम की महिमा गाई जाती है। इंसान के जीवन को सामाजिक रूप से और आध्यात्मिक रूप से ऊंचा उठाने का काम सत्संग करता है। संतों के संग में तो जौ की भूसी भी मिल जाए तो उसे मत त्यागो। सत्संग किसी वाणी गाने से या कोई कथा पुस्तक पढ़ने मात्र से ही नही होता बल्कि सत्संग तो हर पल चलता ही रहता है।