हरियाणा में खेलों के स्वर्ण पदक विजेता को मिलेगा अब एचसीएस और एचप�         # बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी के घर पर सीबीआई का छापा         # विपक्ष के खिलाफ सरकार धरने पर, मोदी समेत BJP सांसद भूख हड़ताल पर         # 50 मीटर एयर रायफल में तेजस्विनी ने जीता सिल्वर मेडल          # बजट सत्र समाप्त, लोकसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित...         # तकनीकी वजह से मेट्रो रेल सेवाएं प्रभावित...          # लिवरपूल ने 10 साल बाद सेमीफाइनल में बनाई जगह...          # स्वर साम्राज्ञी लता ने राज्यसभा के वेतन का चेक तक नहीं छुआ!...          # देश में नेशनल चिल्ड्रेन ट्रिब्यूनल की जरूरत : कैलाश सत्यार्थी         # 2022 तक हिमाचल को जैविक राज्य बनाने का लक्ष्य: डॉ. मार्कंडेय...          # छात्रों की करियर कौंसलिंग हेतु तैयार की जा रही योजना: अनुराग...          # सरकार द्वारा गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को नोटिस, बिफरे प्राईवेट स्कूल संघ संचालक...          # शहीदी स्मारक के लिए 25 को जारी किए जाएंगे टैंडर : स्वास्थ्य मंत्री         # पंजाब को केन्द्र सरकार का तोहफा, मोहाली मेडिकल कॉलेज को मिली हरी झंडी         # पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पंजाब विश्वविद्यालय को 3,500 किताबें दान की...         # मुख्यमंत्री ने मांगी बटाला शुगर मिल के बारे में प्रोजेक्ट रिपोर्ट...          # बीएसएफ ने ढेर किया पाकिस्तानी तस्कर, 20 करोड़ की हेरोइन बरामद...          # अल्जीरिया का मिलिटरी प्लेन क्रैश, 257 से ज्यादा लोगों के मरने की आशंका...          हरियाणा में अब तक डेढ़ करोड़ एलईडी बल्ब वितरित...          भारत बंद : हिंसक घटनाओं की जांच के लिए हरियाणा में गठित होगी कमेटी...          प्रदेश की मंडियों में 16.66 लाख टन गेहूं की आवक...          राष्ट्रमंडल खेल: फाइनल में पहुंचे मुक्केबाज मनीष के घर में खुशी का माहौल...          सांसद दुष्यंत ने मंत्री विज को भेजा मानहानि का नोटिस...          फर्जीवाड़ा कर पेंशन लेने वालों से होगी 50 प्रतिशत की वसूली: खट्टर...          किसानों को राहत, बारिश से खराब फसलों की होगी स्पेशल गिरदावरी ..         आटो में छेड़छाड़ करने पर महिला कराटे चैंपियन ने की ट्रैफिक पुलिसकर्मी की धुनाई, घसीट कर ले गई थान         मुझे सरकार चलाना न सिखाएं सुखबीर : कैप्टन         वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने बांटी 65 लाख की ग्रांटें...         
News Description
सवालों के व्यूह में फंसे कृष्ण, गो-सेवा से खड़े किए हाथ

 करनाल निगम के गोधाम व नंदीग्राम पर सवालों के व्यूह में फंसे डिप्टी सीनियर मेयर कृष्ण गर्ग सोमवार को बचाव की रणनीति अपनाए हुए थे। उठ रहे सवालों का जवाब देने की बजाय उन्होंने चुनौती दी कि किसी में माद्दा है तो गायों की सेवा करके दिखाएं? इस मुद्दे पर बैठक में गर्ग सवालों के जवाब देने की बजाय उलझते रहे और जब उन्हें लगा कि वह फंस रहे हैं तो उन्होंने एक दांव खेला। उन्होंने कहा कि वे गोधाम व नंदीग्राम का संचालन नहीं करेंगे। गर्ग सोच रहे थे कि विरोधी पार्षद उनके इस दांव पर घिर जाएंगे। क्योंकि ऐन मौके पर यदि वह संचालन छोड़ देते हैं तो इतनी जल्दी संभालेगा कौन? लेकिन उनकी यह चाल ज्यादा असरकारक साबित होती नजर नहीं आ रही। दो दौर की मैराथन बैठक के बाद शाम को हाउस की बैठक में तय किया गया कि संचालक के लिए एक चार सदस्य कमेटी गठित कर दी जाए। मसले पर अगली बैठक के लिए 21 दिसंबर तय किया गया।

कमेटी नंदीग्राम पर रखेगी नजर

काफी देर बहस के बाद बैठक में नंदीग्राम की खराब व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए चार सदस्यीय कमेटी बनाने पर सहमति बनी। अब कृष्ण गर्ग के अलावा रोहताश लाठर, नरेंद्र पंडित व सुदर्शन कालड़ा भी इस पर निगरानी रखेंगे। गोवंश पर अत्याचार नहीं हो इसलिए 21 दिसंबर को दोबारा बैठक होगी। इसमे नंदीग्राम व गोधाम को लेकर आगे की रणनीति बनाई जाएगी।

मेयर ने अन्य विकल्प तलाशने का सुझाव दिया

सीनियर डिप्टी मेयर ने हाथ खड़े किए तो मेयर रेनू बाला गुप्ता ने अन्य विकल्प तलाशने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि हाउस को एक-दो दिन का समय देना चाहिए। यदि कोई समाजसेवी संस्था गोवंश की सेवा की जिम्मेदारी लेती है तो इसकी जिम्मेदारी उन्हें सौंप देंगे। लेकिन कमिश्नर ने कहा कि यह गायों का मुद्दा है और इस पर तत्काल इसी बैठक में फैसला लेना होगा।

पूरा दिन चला बैठकों का दौर

नगर निगम में सुबह से गोंवश की मौत का मुद्दा गर्मा गया। पूरा दिन बैठक का दौर चलता रहा। सुबह कमिश्नर, ईओ व सीनियर डिप्टी मेयर ने बैठक की। इसके बाद तीनों की काफी देर तक मेयर के साथ गुफ्तगू चली। फिर हाउस की आपताकाल बैठक बुलाने पर सहमति बनी। शाम को चार बजे हाल ही में मनोनीत तीन पार्षदों के साथ अन्य पार्षद भी इसमें पहुंचे।

पार्षदों की बजाय परिजनों ने की बहस

शाम को चार बजकर 20 मिनट पर गहमागहमी के साथ मी¨टग शुरू हुई। पत्रकारों को देखकर कमिश्नर प्रियंका सोनी ने कहा कि यह हाउस की बैठक है और इसमें केवल मनोनीत सदस्य ही बैठ सकते हैं। फजीहत से बचने के लिए मीडियाकर्मियों को बाहर भेज दिया गया। जबकि कई पार्षदों के स्थान पर उनके परिजन बैठक में ही बैठे रहे। हाउस के सदस्य नहीं होने के बावजूद वह अंदर रहे और पार्षदों की तरफ से वाद-विवाद भी किया। निगम कमिश्नर से इसकी वजह पूछी गई तो वह जवाब नहीं दे पाईं।

कमिश्नर गर्ग के पक्ष में, लेकिन बचाव के तर्क नदारद

हालांकि निगम कमिश्नर पूरी तरह से गर्ग के पक्ष में खड़ी नजर आईं। उन्होंने कहा कि जिस हालात में गर्ग ने काम संभाला है, वह बड़ी बात है। निगम की अपनी मजबूरी है। लेकिन उनके पास गर्ग पर उठ रहे सवालों का जवाब नहीं था। जागरण संवाददाता के सवालों पर आखिर में उन्होंने स्वीकारा कि लापरवाही रही है। संशाधनों की कमी है इसलिए गोधाम व नंदीग्राम को स्वर्ग नहीं बना सकते हैं। व्यवस्था को सुधारने के लिए आगे प्रयास जरूर करेंगे। पशुपालन विभाग को लिखेंगे कि वह सप्ताह में एक दिन नंदीग्राम का दौरा जरूर करें।