# क्रीमी लेयर के बहाने पदोन्नति में आरक्षण बंद नहीं कर सकते : मोदी सरकार          # मध्यपूर्व के लिए अमेरिकी शांति योजना स्वीकार्य नहीं : अब्बास         # पहले नोटबंदी फिर जीएसटी ने जनता की कमर तोड़ी : हुड्डा         # स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के खिलाफ कोर्ट पहुंचे सांसद दुष्यंत          # 300 से ज्यादा दलित परिवारों ने अपनाया बौद्ध धर्म         # भारत को विदेश में पहली बार जीत दिलाने वाले कप्तान अजीत वाडेकर का निधन         # नहीं रहे अटल बिहारी वाजपेयी , देश भर में शोक की लहर          # वाजपेयी के निधन पर बोले पीएम मोदी- मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं         # 93 साल की उम्र में वाजपेयी का निधन, देशभर में शोक की लहर          # थोड़ी देर में अटल का पार्थिव ले जाया जाएगा कृष्णा मेनन मार्ग ते आवास पर         # वाजपेयी का निधन देश, राजनीति और भाजपा के लिए एक अपूर्णीय क्षति - मुख्यमंत्री मनोहर लाल        
News Description
छात्र नेताओं का हाईवे पर उत्पात, पांच घंटे तक जाम

मोदीनगर : छात्र नेताओं ने नामांकन करने जाते समय बृहस्पतिवार को दिल्ली-मेरठ हाइवे पर जमकर उत्पात मचाया। छात्रों ने ट्रैक्टर, कार, बाइकों को बीच सड़क पर आड़ी तिरछी लगाकर हाइवे जाम कर दिया। सड़क पर ही छात्रों ने आतिशबाजी भी की। इसी के चलते हाइवे पर पांच किलोमीटर लंबा जाम लग गया और राहगीरों को पांच घंटे तक परेशानी उठानी पड़ी। विरोध जताने पर छात्रों ने कई राहगीरों के साथ मारपीट भी की। उत्साह में चूर छात्रों के सामने पुलिस मूकदर्शक बनी रही।

वृहस्पतिपार को छात्र संघ चुनाव के चलते नामांकन होना था। शक्ति प्रदर्शन के लिए प्रत्याशी कार, बाइकों के अलावा गांवों से ट्रैक्टर व खुली जीप भी लेकर आए थे। जूलूस में ढोल और आतिशबाजी भी थी। जिससे अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया था। कुछ छात्र निवाड़ी रोड से महेंद्रपुरी कट होते हुए कॉलेज पहुंचे, जबकि कई प्रत्याशी राज चौपले पर एकत्र हुए और इसके बाद सौंदा कट से घुमकर गो¨वदपुरी होते हुए वापस कॉलेज पहुंचे। इसी के चलते हाइवे पर दोनों तरफ सुबह से ही जाम की स्थिति बनी थी। छात्रों ने अपने पीछे चल रहे किसी भी वाहन चालक को आगे नहीं निकलने दिया।

मुलतानी मल मोदी कॉलेज के सामने पहुंचकर छात्रों ने नियम कानूनों की धज्जियां उड़ाते हुए ट्रैक्टर-ट्राली व जूलूस में शामिल तमाम वाहनों को बीच सड़क पर आड़ा तिरछा खड़े कर जमकर एक घंटे तक हुड़दंग मचाया। विरोध जताने पर छात्रों ने कई राहगीरों के साथ मारपीट भी की। पीड़ित लोगों ने इसकी शिकायत पुलिसकर्मियों से की, लेकिन पुलिसकर्मी छात्रों के उग्र रूप से सामने बेबस नजर आए। वाहनों की कतारें गो¨वदपुरी क्षेत्र को पार करती हुईं कादराबाद जबकि गाजियाबाद से मेरठ की तरफ वाहनों की कतारें सीकरी कलां गांव के सामने तक पहुंच गई। दोनों तरफ पांच-पांच किलोमीटर वाहनों को जाम से जूझना पड़ा। एंबुलेंस व कई वीआइपी वाहन भी जाम में फंसे देखे गए। छात्रों की दबंगई के सामने बेबस हुए सिस्टम के खिलाफ लोगों ने जमकर अपनी भड़ास निकाली।