# क्रीमी लेयर के बहाने पदोन्नति में आरक्षण बंद नहीं कर सकते : मोदी सरकार          # मध्यपूर्व के लिए अमेरिकी शांति योजना स्वीकार्य नहीं : अब्बास         # पहले नोटबंदी फिर जीएसटी ने जनता की कमर तोड़ी : हुड्डा         # स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के खिलाफ कोर्ट पहुंचे सांसद दुष्यंत          # 300 से ज्यादा दलित परिवारों ने अपनाया बौद्ध धर्म         # भारत को विदेश में पहली बार जीत दिलाने वाले कप्तान अजीत वाडेकर का निधन         # नहीं रहे अटल बिहारी वाजपेयी , देश भर में शोक की लहर          # वाजपेयी के निधन पर बोले पीएम मोदी- मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं         # 93 साल की उम्र में वाजपेयी का निधन, देशभर में शोक की लहर          # थोड़ी देर में अटल का पार्थिव ले जाया जाएगा कृष्णा मेनन मार्ग ते आवास पर         # वाजपेयी का निधन देश, राजनीति और भाजपा के लिए एक अपूर्णीय क्षति - मुख्यमंत्री मनोहर लाल        
News Description
तीन साल बाद हुआ पैच वर्क, एक दिन में बिखर गई रोड

सोनीपत : लोक निर्माण विभाग की ओर से रविवार को करीब तीन साल बाद पैच वर्क किया गया। उन्हें इतनी जल्दी थी कि उसे आनन-फानन ही पूरा कर दिया। यह बात पुरखास रोड की हालत को देखते हुए कही जा सकती है। सड़क पर पैच वर्क कर डाली गई परत एक ही दिन में बिखर गई। सड़क में एक बार फिर गड्ढे बन गए हैं। इतना ही नहीं पैच वर्क की परत से सड़क पर निर्माण सामग्री भी बिखर गई है, जो वाहन चालकों को परेशानी दे रही है।

पुरखास रोड पर दर्जनों गांव बसे हुए हैं, यहां से हर रोज सैकड़ों वाहनों का आवागमन होता है। इसी मार्ग से छात्राएं बीपीएस विश्वविद्यालय में पढ़ने तथा लोग महिला मेडिकल कालेज, खानपुर में इलाज करने के लिए आवागमन करते हैं। आसपास के ग्रामीणों के अनुसार यह रोड पिछले करीब तीन साल से जर्जर हालत में हैं। सड़क में गहरे गड्ढे बने हुए हैं। रात के समय तो यहां से छोटे वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।इस रोड पर अकसर गड्ढों के कारण दुर्घटनाएं होती रहती हैं। रोड की हालत सुधारने के लिए कई बार प्रशासनिक व संबंधित विभाग के अधिकारियों को अवगत कराया गया है। रविवार को पीडब्ल्यूडी की ओर से रोड पर पैच वर्क का कार्य किया गया।

सड़क में जहां-जहां गड्ढे थे, करीब एक किलोमीटर तक उन पर निर्माण सामग्री की परत बिछाई गई, लेकिन सोमवार सुबह तक ही यह परत पूरी तरह बिखर गई।आरोप है कि निर्माण सामग्री सही तरीके से नहीं लगाई गई, जिसके कारण एक ही दिन में इसका यह हाल हो गया है। इससे और ज्यादा हादसे होने की आशंका बढ़ गई है।