हरियाणा में खेलों के स्वर्ण पदक विजेता को मिलेगा अब एचसीएस और एचप�         # बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी के घर पर सीबीआई का छापा         # विपक्ष के खिलाफ सरकार धरने पर, मोदी समेत BJP सांसद भूख हड़ताल पर         # 50 मीटर एयर रायफल में तेजस्विनी ने जीता सिल्वर मेडल          # बजट सत्र समाप्त, लोकसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित...         # तकनीकी वजह से मेट्रो रेल सेवाएं प्रभावित...          # लिवरपूल ने 10 साल बाद सेमीफाइनल में बनाई जगह...          # स्वर साम्राज्ञी लता ने राज्यसभा के वेतन का चेक तक नहीं छुआ!...          # देश में नेशनल चिल्ड्रेन ट्रिब्यूनल की जरूरत : कैलाश सत्यार्थी         # 2022 तक हिमाचल को जैविक राज्य बनाने का लक्ष्य: डॉ. मार्कंडेय...          # छात्रों की करियर कौंसलिंग हेतु तैयार की जा रही योजना: अनुराग...          # सरकार द्वारा गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को नोटिस, बिफरे प्राईवेट स्कूल संघ संचालक...          # शहीदी स्मारक के लिए 25 को जारी किए जाएंगे टैंडर : स्वास्थ्य मंत्री         # पंजाब को केन्द्र सरकार का तोहफा, मोहाली मेडिकल कॉलेज को मिली हरी झंडी         # पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पंजाब विश्वविद्यालय को 3,500 किताबें दान की...         # मुख्यमंत्री ने मांगी बटाला शुगर मिल के बारे में प्रोजेक्ट रिपोर्ट...          # बीएसएफ ने ढेर किया पाकिस्तानी तस्कर, 20 करोड़ की हेरोइन बरामद...          # अल्जीरिया का मिलिटरी प्लेन क्रैश, 257 से ज्यादा लोगों के मरने की आशंका...          हरियाणा में अब तक डेढ़ करोड़ एलईडी बल्ब वितरित...          भारत बंद : हिंसक घटनाओं की जांच के लिए हरियाणा में गठित होगी कमेटी...          प्रदेश की मंडियों में 16.66 लाख टन गेहूं की आवक...          राष्ट्रमंडल खेल: फाइनल में पहुंचे मुक्केबाज मनीष के घर में खुशी का माहौल...          सांसद दुष्यंत ने मंत्री विज को भेजा मानहानि का नोटिस...          फर्जीवाड़ा कर पेंशन लेने वालों से होगी 50 प्रतिशत की वसूली: खट्टर...          किसानों को राहत, बारिश से खराब फसलों की होगी स्पेशल गिरदावरी ..         आटो में छेड़छाड़ करने पर महिला कराटे चैंपियन ने की ट्रैफिक पुलिसकर्मी की धुनाई, घसीट कर ले गई थान         मुझे सरकार चलाना न सिखाएं सुखबीर : कैप्टन         वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने बांटी 65 लाख की ग्रांटें...         
News Description
अस्पतालों को बंद रखकर सरकार के खिलाफ चंडीगढ़ में प्रदर्शन करेगी आइएमए

हिसार : कारपोरेट अस्पतालों के मालिकों को फायदा पहुंचाने के लिए हरियाणा सरकार दी हरियाणा क्लीनिकल इस्टैब्लिशमेंट एक्ट 2014 को लागू करवाना चाहती है। यह एक्ट न सिर्फ जन विरोधी बल्कि डॉक्टर विरोधी साबित होगा। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन किसी भी सूरत में उक्त एक्ट लागू नहीं होने देगी। इसके विरोध में 7 दिसंबर को चंडीगढ़ के सेक्टर 17 में प्रदेश के हजारों चिकित्सक प्रदर्शन करेंगे। इसके बाद स्वास्थ्य आयुक्त के साथ बैठक होनी है, जिसमें पुराने एक्ट की बजाए एसोसिएशन की आपत्ति के बाद संशोधित एक्ट लागू करने की मांग होगी। अगर ऐसा नहीं हुआ तो सभी निजी अस्पतालों के चिकित्सकों का सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। यह बात पत्रकारवार्ता के दौरान इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के राज्य प्रधान डा. एपी सेतिया ने कही। उनके साथ एसोसिएशन के राज्य महासचिव डा. अजय महाजन और जिला प्रधान डा. जेपीएस नलवा मौजूद थे।

डा. सेतिया ने बताया कि फोर्टिस अस्पताल प्रकरण को लेकर 7 दिसंबर को स्वास्थ्य आयुक्त ने सभी निजी अस्पतालों में सीइओ और डायरेक्टर को मी¨टग के लिए बुलाया है। एसोसिएशन से जुड़े करीब साढ़े सात हजार चिकित्सक चंडीगढ़ जाकर क्लीनिकल इस्टैब्लिशमेंट एक्ट 2014 का विरोध करेंगे। इस दौरान अस्पतालों में ओपीडी सेवाएं बंद रखेंगे। इस दौरान मरीजों को होनी वाली परेशानी के लिए सरकार जिम्मेवार होगी। डा. सेतिया की मानें तो एक्ट लागू होने से मरीजों को जेब ढीली करनी पड़ेगी। कारपोरेट अस्पतालों को फायदा होगा। छोटे व मध्यम श्रेणी के अस्पतालों पर आर्थिक बोझ बढ़ेगा, जोकि मरीज से इलाज की फीस के तौर पर वसूला जाएगा। अभी 100 रुपये में होने वाला इलाज एक्ट लागू होने के बाद 200 रुपये में होगा। इससे अंदाजा लगा सकते हैं कि पहले ही आमजन को स्वास्थ्य का अधिकार देने में हरियाणा सरकार विफल रही है। इस एक्ट को जबरदस्ती लागू करके उनसे रियायती स्वास्थ्य सुविधाएं भी छीन लेगी।

......

अपने फैसले पर बैकफुट हुई सरकार : डा. महाजन

एसोसिएशन के राज्य महासचिव डा. अजय महाजन ने बताया कि सरकार खुद फैसला करती है लेकिन स्टैंड नहीं लेती है। हर बार बैकफुट पर आ जाती है। हमेशा केंद्र सरकार के इशारों पर काम होता है। जब सारा काम केंद्र सरकार के जरिए होना है तो प्रदेश में सरकार का क्या काम। हर फैसला हाईकमान करेगी, जबकि राज्य सरकार को एक्ट लागू करने, न करने, संशोधन करने और न करने सहित तमाम शक्तियां प्रदान हैं। फिर अपने ही फैसले रद कर देती है। यह गलत है और जनहित में नहीं है।

......