हरियाणा में खेलों के स्वर्ण पदक विजेता को मिलेगा अब एचसीएस और एचप�         # बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी के घर पर सीबीआई का छापा         # विपक्ष के खिलाफ सरकार धरने पर, मोदी समेत BJP सांसद भूख हड़ताल पर         # 50 मीटर एयर रायफल में तेजस्विनी ने जीता सिल्वर मेडल          # बजट सत्र समाप्त, लोकसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित...         # तकनीकी वजह से मेट्रो रेल सेवाएं प्रभावित...          # लिवरपूल ने 10 साल बाद सेमीफाइनल में बनाई जगह...          # स्वर साम्राज्ञी लता ने राज्यसभा के वेतन का चेक तक नहीं छुआ!...          # देश में नेशनल चिल्ड्रेन ट्रिब्यूनल की जरूरत : कैलाश सत्यार्थी         # 2022 तक हिमाचल को जैविक राज्य बनाने का लक्ष्य: डॉ. मार्कंडेय...          # छात्रों की करियर कौंसलिंग हेतु तैयार की जा रही योजना: अनुराग...          # सरकार द्वारा गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को नोटिस, बिफरे प्राईवेट स्कूल संघ संचालक...          # शहीदी स्मारक के लिए 25 को जारी किए जाएंगे टैंडर : स्वास्थ्य मंत्री         # पंजाब को केन्द्र सरकार का तोहफा, मोहाली मेडिकल कॉलेज को मिली हरी झंडी         # पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पंजाब विश्वविद्यालय को 3,500 किताबें दान की...         # मुख्यमंत्री ने मांगी बटाला शुगर मिल के बारे में प्रोजेक्ट रिपोर्ट...          # बीएसएफ ने ढेर किया पाकिस्तानी तस्कर, 20 करोड़ की हेरोइन बरामद...          # अल्जीरिया का मिलिटरी प्लेन क्रैश, 257 से ज्यादा लोगों के मरने की आशंका...          हरियाणा में अब तक डेढ़ करोड़ एलईडी बल्ब वितरित...          भारत बंद : हिंसक घटनाओं की जांच के लिए हरियाणा में गठित होगी कमेटी...          प्रदेश की मंडियों में 16.66 लाख टन गेहूं की आवक...          राष्ट्रमंडल खेल: फाइनल में पहुंचे मुक्केबाज मनीष के घर में खुशी का माहौल...          सांसद दुष्यंत ने मंत्री विज को भेजा मानहानि का नोटिस...          फर्जीवाड़ा कर पेंशन लेने वालों से होगी 50 प्रतिशत की वसूली: खट्टर...          किसानों को राहत, बारिश से खराब फसलों की होगी स्पेशल गिरदावरी ..         आटो में छेड़छाड़ करने पर महिला कराटे चैंपियन ने की ट्रैफिक पुलिसकर्मी की धुनाई, घसीट कर ले गई थान         मुझे सरकार चलाना न सिखाएं सुखबीर : कैप्टन         वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने बांटी 65 लाख की ग्रांटें...         
News Description
ई-रजिस्ट्री लागू होने के बाद भी प्राॅपर्टी के हजारों इंतकाल पेंडिंग

प्राॅपर्टीकी ई-रजिस्ट्री (ऑनलाइन) होने के बाद भी जिले में हजारों की संख्या में इंतकाल आज भी पेंडिंग हैं। इंतकाल दर्ज कराने के लिए लोग तहसीलों के चक्कर काटने पर मजबूर हैं। उन्हें अगले हफ्ते आने की बात कहते हुए टरकाया जा रहा है। सीएम मनोहरलाल ने तहसीलों में पेंडेंसी खत्म करने के लिए कई बार निर्देश दिए हैं, बावजूद इसके हर तहसील में काफी केस पेंडिंग हैं। इसी के मद्देनजर डीसी अमित खत्री ने जिले के राजस्व विभाग से जुड़े अधिकारियों, तहसीलदारों नायब तहसीलदारों को अपने-अपने आॅफिस के सभी पेंडिंग इंतकाल दर्ज करने के निर्देश जारी किए हैं। विशेष बात यह है कि केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह उनकी विधायक प|ी प्रेमलता के गृहक्षेत्र उचाना तहसील के जिले में सबसे ज्यादा इंतकाल की 1121 फाइलें पेंडिंग हैं। 

जिले में पहले एक माह में दो दिन तहसीलदार को इंतकाल दर्ज के मामले निपटाने होते थे। डीसी के आदेश के बाद अब जिले की सभी सातों तहसीलों में प्रतिमाह चार दिन बैठकर तहसीलदारों को इंतकाल दर्ज करने की कार्रवाई करनी होगी। यानि सप्ताह में एक दिन इसके लिए फिक्स होगा। ज्यादातर तहसीलों में इसके लिए शुक्रवार का दिन निर्धारित किया गया है। इस पर राजस्व विभाग के अधिकारियों ने कवायद शुरू कर दी है। 

^जिले में ऑनलाइन रजिस्ट्रियां इंतकाल किए जाते हैं। अब तहसीलदार हर माह चार दिन इंतकाल दर्ज करने की कार्रवाई करेंगे, ताकि पेंडेंसी रहे। जो पेंडेंसी हैं वो या तो तहसीलदार होने की वजह से हैं या फिर नई रजिस्ट्रियों की हैं। उचाना तहसील में तहसीलदार पद खाली रहने से वहां पर काफी इंतकाल पेंडिंग रह गए थे। -रामफलकटारिया, जिला राजस्व अधिकारी, जींद। 

^मैंने पिछले वर्ष कुछ जमीन की खरीद-फरोख्त की थी। मगर अब तक जमीन का इंतकाल दर्ज नहीं किया जा चुका है। काफी महीने तो तहसीलदार होने की बात कही गई और अब अगले हफ्ते करने की बात कहकर पल्ला झाड़ रहे हैं। हर हफ्ते चक्कर काटने पड़ रहे हैं। सरकार केवल सुविधा का हवाला दे रही है, लेकिन इस ओर ध्यान नहीं दे रही। -नत्थूराम,प्रॉपर्टी क्रेता। 

जिले में सभी तहसीलों में खाली पड़े तहसीलदार अन्य कर्मचारियों के पद जल्द भरे जाएं। जिला प्रशासन के उच्चाधिकारियों को समय-समय पर तहसीलों में औचक निरीक्षण कर लापरवाह कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। सभी तहसीलों में कंप्यूटर सिस्टम इंटरनेट सुविधाएं सुचारू रूप से चलवाई जाएं। 

^मैंने करीब डेढ़ साल पहले एक प्लॉट खरीदा था और तहसील में रजिस्ट्री कराई थी, लेकिन आज तक मेरे नाम प्लॉट का इंतकाल दर्ज नहीं हो सका है। पटवारी बार-बार चक्कर कटवा रहा है। कभी कहता है तहसीलदार साहब नहीं आए। कभी कहता है सिस्टम नहीं चल रहा। ऐसे में वे परेशान हैं। तहसीलों में तो बिना पैसे दिए कुछ काम नहीं होता। -रामकिशन,प्रॉपर्टी क्रेता। 

जिले में तहसीलदारों उनके कार्यालयों में स्टाफ की कमी होना, लगे सिस्टम सुचारू रूप से चलना, पटवारियों की कमी कुछ पटवारियों द्वारा फाइल को लटकाए रखना मुख्य कारण हैं। इससे जिले में इंतकाल रजिस्ट्रियां पेंडिंग हैं। कई पार्टी रजिस्ट्री कराने के बाद तहसील में इंतकाल दर्ज कराने के लिए नहीं पहुंचती। 

जमीन जायदाद के मामलों में रोजाना धोखाधड़ी फर्जीवाड़े के मामले उजागर हो रहे हैं। एक-एक प्लॉट को कई कई खरीदारों को बेचकर लोगों को ठगा जा रहा है। पुलिस विभाग द्वारा ऐसे मामलों में हर माह लगभग 8 से 10 एफआईआर दर्ज की जा रही हैं। विशेषज्ञों की मानें तो अगर रजिस्ट्री होते ही प्लॉट अन्य प्रॉपर्टी का इंतकाल दर्ज किए जाए तो फर्जीवाड़े की संभावना काफी हद तक खत्म हो जाती है।