# क्रीमी लेयर के बहाने पदोन्नति में आरक्षण बंद नहीं कर सकते : मोदी सरकार          # मध्यपूर्व के लिए अमेरिकी शांति योजना स्वीकार्य नहीं : अब्बास         # पहले नोटबंदी फिर जीएसटी ने जनता की कमर तोड़ी : हुड्डा         # स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के खिलाफ कोर्ट पहुंचे सांसद दुष्यंत          # 300 से ज्यादा दलित परिवारों ने अपनाया बौद्ध धर्म         # भारत को विदेश में पहली बार जीत दिलाने वाले कप्तान अजीत वाडेकर का निधन         # नहीं रहे अटल बिहारी वाजपेयी , देश भर में शोक की लहर          # वाजपेयी के निधन पर बोले पीएम मोदी- मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं         # 93 साल की उम्र में वाजपेयी का निधन, देशभर में शोक की लहर          # थोड़ी देर में अटल का पार्थिव ले जाया जाएगा कृष्णा मेनन मार्ग ते आवास पर         # वाजपेयी का निधन देश, राजनीति और भाजपा के लिए एक अपूर्णीय क्षति - मुख्यमंत्री मनोहर लाल        
News Description
सब्जियों की कीमत पूछते ही ठंड में आ रहा पसीना

सर्दियों में हमेशा सब्जी सस्ती होती थी, मगर इस बार उल्टा हो रहा है। सब्जी के दाम घटने के बजाय बढ़ रहे हैं। अमूमन इस सीजन में पंद्रह से बीस रुपये किलो मिलने वाला टमाटर अपने रेट से लोगों को चेहरा लाल कर रहा है। टमाटर के दाम साठ रुपये प्रति किलो से नीचे आ ही नहीं रहे हैं। प्याज भी इतना महंगा कि बिना काटे ही आंख में पानी आ जा रहा है। लोग सलाद खाना व दाल में तड़का देना छोड़ रहे हैं। गोभी व गाजर के दाम भी लोगों को मुंह चिढ़ा रहे हैं।

शहर की तमाम सब्जी मंडी व खुदरा बाजार में कहीं भी प्याज 50 रुपये से किलो से कम नहीं बिक रहा है। सुशांत लोक, डीएलएफ जैसे पॉश इलाकों में तो प्याज का दाम 70 रुपये किलो तक पहुंच जाता है। हालांकि सब्जी वाले भी इलाका देख के रेट तय करते हैं। जबकि सदर बाजार स्थित सब्जी मंडी में वही प्याज 40 से 50 रुपये किलो में बिक रहा है। मंडी के आढ़तियों की मानें तो दिसंबर के पहले सप्ताह में बाजार में नई प्याज आते ही दाम गिरने शुरू हो जाएंगे। प्याज और टमाटर के साथ अदरक, हरी मटर, गोभी, बैगन, हरी मिर्च, ¨भडी आदि के दाम भी काफी चढ़े हुए हैं।