#23 महीने बाद धोनी फिर बने टीम इंडिया के कप्तान         # जेटली का बैंकों को निर्देश : धोखाधड़ी करने वालों और डिफॉल्टरों के खिलाफ उठाएं सख्त कदम         #भाजपा के महाकुंभ में PM मोदी ने दिया मंत्र, मेरा बूथ सबसे मजबूत          # सर्जिकल स्‍ट्राइक का कमांडो संदीप सिंह शहीद, तीन आतंकियों को किया ढ़ेर          #100 रुपए प्रति लीटर हो सकता है पेट्रोल         #हरियाणा में बारिश से फसलों को हुए नुकसान के आंकलन के आदेश         #चौधरी देवीलाल किसानों और गरीबों के सच्चे हितैषी थे: दुष्यन्त चौटाला...          # सरकारी बैंकों के लाखों कर्मचारियों की कमाई पर पडऩे वाला है असर, चिट्ठी से मचा हडक़ंप         # तीन तलाक अध्‍यादेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल        
News Description
टोहाना डिपो की आधे से अधिक रोडवेज बसे चलीं दो घंटे की देरी से

सर्दीधुंध के दिनों में सड़क हादसों की बढ़ोतरी को देखते हुए नेशनल हाइवे प्राधिकरण की ओर से सुरक्षा के प्रबंध करने शुरू कर दिए हैं। इसी कड़ी में सड़काें पर बने कटों पर येलो ब्लिंकर लगाने का काम शुरू कर दिया गया है। ताकि ब्लिंकर से वाहन चालक सचेत हो और अपने वाहनों की रफ्तार को कम करें। धुंध बढ़ने के साथ ही क्षेत्र में खासकर हाइवे पर कई सड़क हादसे हुए हैं। इनमें कई लोग घायल हो चुके हैं। सोमवार को ब्लिंक लगाने का काम शुरू कर दिया गया। हाईवे फोरलेन पर ब्लिंकर लगाए जा रहे हैं। इसके लिए एक कंपनी को ठेका दिया गया है। यह ब्लिंकर लाइट सोलर सिस्टम से चलेंगी। 

8नवंबर को प्रकाशित किया था समाचार 

नेशनलहाईवे फोरलेन बनाने के बाद प्राधिकरण की ओर से सुरक्षा के प्रबंध नहीं किए थे। इसे लेकर दैनिक भास्कर ने धांगड़ पुल से लेकर हांसपुर रोड तक के कटों का जिक्र करते हुए बताया था कि एनएचए की ओर से सुरक्षा के प्रबंध नहीं किए गए हैं। 

इसे लेकर 8 नवंबर के अंक में धांगड़ से हांसपुर फोरलेन पर 5 कट खतरनाक नामक समाचार प्रकाशित किया था। इसके बाद से एनएचए के अधिकारी हरकत में आए ब्लिंकर अन्य सुरक्षा के प्रबंधन करने का काम शुरू कराया है। हिसार सीमा से लेकर दरियापुर तक के कटों पर लगेेगी लाइटें जीआर इंट्रा कंपनी के प्रोजेक्ट इंचार्ज महेश बंजारा ने बताया एनएचए की ओर से उन्हें फतेहाबाद की सीमा में हाईवे फोरलेन पर ब्लिंकर आदि लगाने का काम दिया गया है। जिसे शुरू कर दिया गया है। यह ब्लिंकर सोलर सिस्टम से चलेंगी। 

शहरमें 22 जगहों को किया गया था चिन्हित 

सड़कहादसों पर रोक लगाने के मकसद से पुलिस प्रशासन ने शहरी क्षेत्र में ट्रेफिक पुलिस की मदद से 22 जगहों कटों काे चिन्हित किया था। जहां पर हादसे होने का भय बना रहता है। इन कटों पर येलो ब्लिंकर लगाने का प्रस्ताव रखा गया था। शहरी इलाके में नगर परिषद की मदद से ब्लिंकर लगाए जाने हैं। 

फतेहाबाद। फोरलेन बाईपास पर धुंध में हेड लाइट का सहारा लेकर अपने गंतव्य की और जाते वाहन। 

हांसपुर रोड से हैवी वाहनों की निकासी पर रोक लगाने की मांग को लेकर अधिकारियों को ज्ञापन देने पहुंचे ब्लॉक समिति चेयरमैन प्रतिनिधि डॉ. मुख्त्यार सिंह अन्य। 

फतेहाबाद। अयाल्की के पास हुई सड़क दुघर्टना में क्षतिग्रस्त हुई ऐंबुलैंस वैन। 

फतेहाबाद |गांव अयाल्की के पास मरीज को छोड़कर वापस रतिया लौट रही एंबुलेंस धुंध के चलते ट्रक के साथ टकरा गई। इस हादसे में ईएमटी ड्राइवर बाल-बाल बच गए। मामले की सूचना स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दी गई। 

रतिया नागरिक अस्पताल की एंबुलेंस एक डिलीवरी केस को छोड़ने के लिए देर रात करीब 9 बजे फतेहाबाद नागरिक अस्पताल में पहुंच गई। मरीज को छोड़कर जब वह वापस रतिया की तरफ लौट रही थी। इस दौरान एंबुलेंस चालक राकेश उसका साथ ईएमटी मौजूद था। जब उनकी एंबुलेंस गांव अयाल्की के पास पहुंची तो धुंध के चलते कुछ भी दिखने के कारण उनकी टक्कर ट्रक से हो गई। इस टक्कर में गनीमत यह रही है कि किसी को चोट नहीं आई, लेकिन एंबुलेंस पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। 

ड्राइवरको रुकना पड़ा पास की ढाणी में 

एंबुलेंसके साथ हादसा हुआ तो मामले की सूचना स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों एंबुलेंस कंट्रोल रुम में दी। इसके बाद ईएमटी प्राइवेट के जरिए रतिया पहुंच गया तो ड्राइवर को एंबुलेंस की निगरानी के लिए वहीं रूकना पड़ा। ड्राइवर एंबुलेंस की निगरानी के चलते वही पास की ढाणी में रात गुजारी। सुबह एंबुलेंस को लेकर नागरिक अस्पताल में पहुंचे। 

यात्रियों को करना पड़ रहा इंतजार 

दैनिकयात्री मोहित बांसल मुनीष ने बताया कि वें पिछले दो दिनों से सिरसा जाने वाली बस के देरी से चलने के कारण अपने काम पर देरी से पहुंच रहे हैं। उन्होंने बताया कि लंबे रूटों की बसों को चालकों की सुविधानुसार विजिबिलिटी होने के बाद ही चलाया जाता है। जिसके कारण उन्हें बस स्टैंड पर घंटों इंतजार करना पड़ता है। 

आधे से अधिक बस सेवाएं हुई प्रभावित : साधू 

बसस्टैंड कर्मचारी साधु राम दर्शन सिंह ने बताया कि घने के कोहरे के कारण टोहाना डिपो की 46 बसों में से लगभग 30 बसों को सुबह देरी चलाना पड़ा। चालकों की असमर्थता के चलते यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए स्थिति अनुसार बसें देरी से चलाई गई है। 

कोहरे के कारण टोहाना डिपो से चलने वाली सुबह कालीन बसों में आधे से अधिक बसें अपने निर्धारित समय से करीब दो घंटे देरी से चली। जिनमें टोहाना से गंगानगर, बीकानेर, हरिद्वार, चंडीगढ़, गुरुग्राम दिल्ली को जाने वाली लंबे रूटों की बसें शामिल रही