#23 महीने बाद धोनी फिर बने टीम इंडिया के कप्तान         # जेटली का बैंकों को निर्देश : धोखाधड़ी करने वालों और डिफॉल्टरों के खिलाफ उठाएं सख्त कदम         #भाजपा के महाकुंभ में PM मोदी ने दिया मंत्र, मेरा बूथ सबसे मजबूत          # सर्जिकल स्‍ट्राइक का कमांडो संदीप सिंह शहीद, तीन आतंकियों को किया ढ़ेर          #100 रुपए प्रति लीटर हो सकता है पेट्रोल         #हरियाणा में बारिश से फसलों को हुए नुकसान के आंकलन के आदेश         #चौधरी देवीलाल किसानों और गरीबों के सच्चे हितैषी थे: दुष्यन्त चौटाला...          # सरकारी बैंकों के लाखों कर्मचारियों की कमाई पर पडऩे वाला है असर, चिट्ठी से मचा हडक़ंप         # तीन तलाक अध्‍यादेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल        
News Description
विद्यार्थियों को बताए आपदा प्रबंधन के तरीके

फतेहाबाद रतिया के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में आपदा प्रबंधन जनजागरण अभियान के तहत कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर राष्ट्रीय आपदा मोचन बल टीम के कमांडर डा. र¨वद्र, अनुसंधान अधिकारी सुरेश दहिया तथा जिला बाल सरंक्षण अधिकारी सुरजीत बाजीया, स्कूल के प्रधानाचार्य ज¨तद्र ¨सह, मोहन, कुलवित, अंकित, राजीव, राकेश, सुरेश आदि ने आपदा प्रबंधनों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने स्वयं तथा अन्य लोगों की सुरक्षा के बारे में भी जानकारी दी और प्राकृतिक आपदा के बाद सरकार और जिला प्रशासन के सहयोग के लिए संस्थाओं का सहयोग देने बारे भी विचार विर्मश किया व आपदाओं से बचने के लिए अभ्यास (डेमो) करके विद्यार्थियों को जागरूक किया। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल टीम के इस जनजागरूकता अभियान की प्रधानाचार्य जतींद्र सिहं ने सरहाना की तथा टीम का धन्यवाद भी किया। टीम में बाढ़ व भूकंप के दौरान बचाव व सहायता बारे एमएम तकनीक का डेमोस्ट्रेशन करके बच्चों को दिखाया किमुसीबत के समय अपनी व अपने परिवार की सहायता कैसे की जा सकती है। उन्होंने बताया कि मुसीबत के समय धैर्य से काम लेना चाहिए। आपदा के समय प्राथमिक एक से दो घंटें बहुत महत्वपूर्ण होते हैं इस समय में व्यक्ति को खुद व अपने परिवार का बचाव करना चाहिए।