हरियाणा में खेलों के स्वर्ण पदक विजेता को मिलेगा अब एचसीएस और एचप�         # बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी के घर पर सीबीआई का छापा         # विपक्ष के खिलाफ सरकार धरने पर, मोदी समेत BJP सांसद भूख हड़ताल पर         # 50 मीटर एयर रायफल में तेजस्विनी ने जीता सिल्वर मेडल          # बजट सत्र समाप्त, लोकसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित...         # तकनीकी वजह से मेट्रो रेल सेवाएं प्रभावित...          # लिवरपूल ने 10 साल बाद सेमीफाइनल में बनाई जगह...          # स्वर साम्राज्ञी लता ने राज्यसभा के वेतन का चेक तक नहीं छुआ!...          # देश में नेशनल चिल्ड्रेन ट्रिब्यूनल की जरूरत : कैलाश सत्यार्थी         # 2022 तक हिमाचल को जैविक राज्य बनाने का लक्ष्य: डॉ. मार्कंडेय...          # छात्रों की करियर कौंसलिंग हेतु तैयार की जा रही योजना: अनुराग...          # सरकार द्वारा गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को नोटिस, बिफरे प्राईवेट स्कूल संघ संचालक...          # शहीदी स्मारक के लिए 25 को जारी किए जाएंगे टैंडर : स्वास्थ्य मंत्री         # पंजाब को केन्द्र सरकार का तोहफा, मोहाली मेडिकल कॉलेज को मिली हरी झंडी         # पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पंजाब विश्वविद्यालय को 3,500 किताबें दान की...         # मुख्यमंत्री ने मांगी बटाला शुगर मिल के बारे में प्रोजेक्ट रिपोर्ट...          # बीएसएफ ने ढेर किया पाकिस्तानी तस्कर, 20 करोड़ की हेरोइन बरामद...          # अल्जीरिया का मिलिटरी प्लेन क्रैश, 257 से ज्यादा लोगों के मरने की आशंका...          हरियाणा में अब तक डेढ़ करोड़ एलईडी बल्ब वितरित...          भारत बंद : हिंसक घटनाओं की जांच के लिए हरियाणा में गठित होगी कमेटी...          प्रदेश की मंडियों में 16.66 लाख टन गेहूं की आवक...          राष्ट्रमंडल खेल: फाइनल में पहुंचे मुक्केबाज मनीष के घर में खुशी का माहौल...          सांसद दुष्यंत ने मंत्री विज को भेजा मानहानि का नोटिस...          फर्जीवाड़ा कर पेंशन लेने वालों से होगी 50 प्रतिशत की वसूली: खट्टर...          किसानों को राहत, बारिश से खराब फसलों की होगी स्पेशल गिरदावरी ..         आटो में छेड़छाड़ करने पर महिला कराटे चैंपियन ने की ट्रैफिक पुलिसकर्मी की धुनाई, घसीट कर ले गई थान         मुझे सरकार चलाना न सिखाएं सुखबीर : कैप्टन         वित्त मंत्री मनप्रीत बादल ने बांटी 65 लाख की ग्रांटें...         
News Description
सबसे गंदे शहर में पलवल के बाद बहादुरगढ़ का नाम

स्वच्छतासर्वेक्षण में सफाई के मामले में बहादुरगढ़ का स्थान प्रदेश के अन्य जिलों की लिस्ट में सेकेंड लास्ट आया है। इसे सबसे गंदे शहर के रूप में स्थान पाने वाले शहर पलवल के बाद दूसरा नंबर मिला है। गुरुवार को जारी केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए ताजा सर्वेक्षण में 434 शहरों के सर्वे में बहादुरगढ़ 353 वें स्थान पर रहा। पर वह पलवल शहर की गंदगी में उससे आगे निकल गया जो 397 वें स्थान पर रहा। 

इस सर्वे में इसमें पहले नंबर पर करनाल 65 वें स्थान पर, फरीदाबाद 88 वें स्थान पर, गुरुग्राम 112 वें स्थान पर, पंचकुला 211, सोनीपत 243 वें, थानेसर 253 वें, जींद 265 वें, सिरसा 274 वें, कैथल 282 वें, हिसार 291 वें, रोहतक 295 वें स्थान पर रहा। वहीं रेवाड़ी 303 वें, अंबाला सदर 308 वें, पानीपत 235 वें, भिवानी 345 वें, यमुनानगर 346 वें स्थान पर रहा। बहादुरगढ़ 353 वें स्थान पर रहा सबसे अंत में पलवल 397 वें स्थान पर रहा। स्वच्छता सर्वेक्षण में बहादुरगढ़ को पहली बार शामिल किया गया था। दिसंबर में आई सर्वे टीम ने यहां सफाई व्यवस्था की तैयारियों को जिस तरह से नापा उसे देखते हुए गुरुवार को जारी हुई रिपोर्ट में साफ हो गया कि बहादुरगढ़ प्रदेश के सबसे गंदगी भरे क्षेत्रों में एक है। गुरुवार को जारी लिस्ट में सरकार द्वारा करवाए गए सर्वे में तो यहीं रिपोर्ट दी गई है। 


इसबार का शहर की सफाई को लेकर जो प्लान तैयार किया गया है उसमें हर साल नगर परिषद 11 करोड़ रुपए खर्च करेगी। इसके लिए आठ मई को ठेका छोड़ा जाना है। जो कंपनी ठेका लेगी उसे शहर की मुख्य आठ सड़कों पर वेक्यूम मशीन से सफाई की जिम्मेदारी भी सफाई का ठेका लेने वाली कंपनी के पास होगी। अब सफाई का ठेका लेने वाली कंपनी किराए पर वेक्यूम मशीन लेकर आए या फिर स्वयं अपनी खरीदे यह उसकी जिम्मेदारी होगी। 


बहादुरगढ़स्वच्छता सर्वे लिस्ट में अंतिम स्थानों में आया है पर अब व्यवस्था सुधारी जाएगी। शहर की सफाई व्यवस्था पर बराबर नजर रखी जानी है। जिससे अगली बार स्वच्छता सर्वेक्षण में बहादुरगढ़ का रेंक अच्छा आए। अब इस मामले में उन लोगों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई होगी जो शहर में गंदगी को सड़क या फिर औद्योगिक क्षेत्र नाले आदि में फेंक रहे हैं। ऐसे लोगों के चालान काटने को कहा है। 

नपके सचिव मुकेश कुमार ने बताया कि नगर परिषद की ओर से सफाई कार्य का जो टेंडर किया गया है वह शहर को निर्मल बनाने के लिए किया गया है। नगर परिषद के पास सफाई कर्मचारियों की कमी है और सफाई के ठेके में ठेकेदार द्वारा करीब 300 नए कर्मचारियों को लगाया जाएगा। अगर हिसाब लगाया जाए तो अकेले सफाई कर्मचारियों की तनख्वाह पर ही करीब 25 लाख रुपये की राशि खर्च हो जाएगी। इसके अलावा करीब 20 ट्रैक्टर-ट्राली भी होंगी। वहीं रिक्शा, टाटा ऐस, जेसीबी आदि अन्य संसाधनों की भी व्यवस्था होगी। पूरे शहर के अलावा सेक्टर क्षेत्रों की जिम्मेदारी भी अपने पास है। प्रयास है कि अगले साल के सर्वे से पहले ही शहर में गंदगी को साफ कर इसे निर्मल की श्रेणी में पहुंचाया जा सके। 

226 सफाई कर्मचारी, कूड़ा उठाने की नहीं व्यवस्था 

शहरमें सफाई व्यवस्था के लिए इस समय केवल 226 कर्मचारी ही काम कर रहे हैं। वहीं, कूड़ा उठाने की कोई व्यवस्था नहीं होने के कारण पूरा शहर गंदगी से भरा हुआ है। प्रशासन ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए शहर में सफाई का काम ठेके पर देने का फैसला किया है। पहलेसाल भर में सफाई में लिफ्टिंग का ठेका दिया जाता था। 


नगर परिषद ने बढ़ाया बजट, अब वैक्यूम मशीन से होगा सफाई का काम, आठ को खुलेगा टेंडर