#23 महीने बाद धोनी फिर बने टीम इंडिया के कप्तान         # जेटली का बैंकों को निर्देश : धोखाधड़ी करने वालों और डिफॉल्टरों के खिलाफ उठाएं सख्त कदम         #भाजपा के महाकुंभ में PM मोदी ने दिया मंत्र, मेरा बूथ सबसे मजबूत          # सर्जिकल स्‍ट्राइक का कमांडो संदीप सिंह शहीद, तीन आतंकियों को किया ढ़ेर          #100 रुपए प्रति लीटर हो सकता है पेट्रोल         #हरियाणा में बारिश से फसलों को हुए नुकसान के आंकलन के आदेश         #चौधरी देवीलाल किसानों और गरीबों के सच्चे हितैषी थे: दुष्यन्त चौटाला...          # सरकारी बैंकों के लाखों कर्मचारियों की कमाई पर पडऩे वाला है असर, चिट्ठी से मचा हडक़ंप         # तीन तलाक अध्‍यादेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल        
News Description
काश कि असुरक्षित प्रतीक्षा को वे¨टग रूम मिल जाए .

 फतेहाबाद : ग्रामीण क्षेत्रों से बड़ी संख्या में बेटियां उच्च शिक्षा के लिए शहर पढ़ने आती हैं। कालेज में कक्षाएं खत्म होने तथा गांव लौटने के लिए वापसी बस के बीच दो घंटे तक का उबाऊ अंतराल रहता है। कई बार तो इंतजार की इंतहा हो जाती है। बढ़ती आपराधिक प्रवृत्ति छात्राओं को तमाम आशंकाओं से घेरती है। कारण कि उन्हें बस डिपो के खुले परिसर में यह समय व्यतीत करना पड़ता है। परेशानी स्वाभाविक ही। यह हकीकत बस स्टैंड में चलाए गए दुर्गा अभियान के दौरान भी साबित हो गया था जब यहां कई युवकों को आवारागर्दी करते हुए पकड़ा था। इस सच्चाई को देखते हुए बस अड्डा परिसर में प्रतीक्षारत छात्राओं के लिए हिसार अथवा अन्य जिलों की तर्ज पर एक वे¨टग रूम की जरूरत शिद्दत से महसूस की जा रही है।