Main News Description
200 से अधिक सवाल लेकर सुनारिया जेल पहुंची एसआईटी

पंचकूला (उत्तम हिन्दू न्यूज) : पंचकूला हिंसा मामले में एसआईटी ने राम रहीम से बुधवार को सुनारिया जेल में तीन घंटे पूछताछ की। रणजीत हत्या मामले में सीबीआई कोर्ट में डेरामुखी की वीसी होने के कारण एसआईटी को पूछताछ के लिए इंतजार करना पड़ा। 

पंचकूला एसीपी हेड क्वार्टर मुकेश मल्होत्रा के नेतृत्व में गठित एसआईटी वन की पांच सदस्यीय टीम राम रहीम से पूछताछ के लिए सुबह सुनारिया जेल पहुंची। पहचान पत्र न होने के कारण टीम को एक घंटे तक इंतजार करना पड़ा। इसके बाद एसआईटी की टीम ने डेरामुखी से पूछताछ की। रणजीत हत्याकांड में डेरामुखी की पंचकूला सीबीआई कोर्ट में डेढ़ बजे से सुनवाई थी। सुनवाई साढ़ेे चार बजे तक चली। सुनवाई खत्म होने के बाद साढ़े चार बजे से एसआईटी ने दोबारा पूछताछ  शुरू की। यह पूछताछ छह बजे तक चली। एसआईटी की ओर से 200 से अधिक सवाल किए गए। वह जवाब में वह एसआईटी को गुमराह करता रहा। इस दौरान एसआईटी ने 25 अगस्त को पंचकूला में हुई आगजनी व हिंसा को लेकर सवाल किया।

इस मामले में हनीप्रीत सहित 15 लोगों को एसआईटी गिरफ्तार कर चुकी है। जेल में बंद आरोपियों के 90 दिन पूरे होने के बाद अदालत में उनके खिलाफ चार्जशीट में दाखिल हो चुकी है। एसआईटी प्रभारी मुकेश मल्होत्रा ने कहा कि पंचकूला हिंसा मामले में राम रहीम से पूछताछ की गई है। उसने सवालों का जवाब दिया। एसआईटी की ओर से मामले की जांच की जाएगी कि उसके जवाब सही हैं या गुमराह करने वाले, आवश्यकता पडऩे पर उससे दोबारा पूछताछ हो सकती है।