Main News Description
हंगर इंडेक्स में 3 पायदान नीचे खिसका भारत, नॉर्थ कोरिया से भी पीछे

नई दिल्ली: इंटरनेशनल फूड पॉलिसी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आईएफपीआरआई) ने एक रिपोर्ट पेश कर दुनिया के 119 देशों के वैश्विक भूख सूचकांक को प्रकाशित किया है। रिपोर्ट बताती है कि भारत में भूख गंभीर और विकट समस्या बन चुकी है। 119 देशों की सूची में भारत का स्थान 100वां है और नेपाल, उत्तर कोरिया और बांग्लादेश जैसे देशों से भी वे पीछे है। पड़ोसी देश पाकिस्तान भारत से आगे निकल चुका है। रिपोर्ट बताती है कि बच्चों में कुपोषण की उच्च दर काफी अधिक है जिसकारण देश में भूख का स्तर गंभीर होता जा है। कुपोषण और भूख के असर को कम करने के लिए देश के सामाजिक क्षेत्र को इसके प्रति मजबूत प्रतिबद्धता दिखानी होगी। इस बारे में आईएफपीआरआई ने एक बयान में कहा, '119 देशों में भारत 100वें स्थान पर है और समूचे एशिया में सिर्फ अफगानिस्तान और पाकिस्तान उससे पीछे हैं।'

उन्होंने कहा, ''31.4 के साथ भारत का 2017 का जीएचआई (वैश्विक भूख सूचकांक) अंक ऊंचाई की तरह है और 'गंभीर' श्रेणी में है। यह उन मुख्य कारकों में से एक है जिसकी वजह से दक्षिण एशिया इस साल जीएचआई में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले क्षेत्रों में से एक है।''

रिपोर्ट के मुताबिक भारत चीन (29), नेपाल (72), म्यामांर (77), श्रीलंका (84) और बांग्लादेश (88) से भी पीछे है। पाकिस्तान और अफगानिस्तान इस सूची में क्रमश: 106वें और 107वें स्थान पर हैं। 31.4 स्कोर के साथ भारत का साल 2017 का ग्लोबल हंगर इंडेक्स अंक ऊंचाई की तरफ और गंभीर श्रेणी में है। यह उन मुख्य कारकों में से एक है, जिसकी वजह से दक्षिण एशिया इस साल ग्लोबल हंगर इंडेक्स में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले क्षेत्रों में से एक है।