Main News Description
AAP ने EVM की भूमिका पर उठाए सवाल

पंजाब और गोवा में दावे के ठीक उलट प्रदर्शन करने वाली अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (आप) के अस्तित्व पर सवालिया निशान लग गया है, लेकिन AAP का इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (EVM) को लेकर सवाल उठाना जारी है। बुधवार को भी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पंजाब विधानसभा चुनाव नतीजों को लेकर EVM की भूमिका पर सवाल उठाए हैं। केजरीवाल ने आरोप लगाया कि बीजेपी और अकालियों को 30 प्रतिशत वोट कैसे मिल सकते हैं, जबकि लोग उनसे नाराज हैं।

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के लिए पंजाब में लहर थी। हर कोई कह रहा था कि पंजाब में AAP को लेकर लहर थी। मगर पंजाब के नतीजे आए तो उलट निकला, जबकि हमारे कार्यकर्ता शपथपत्र देने को तैयार हैं कि उन्होंने वोट दिए हैं फिर कहां गए।

पत्रकार वार्ता के दौरान आम आदमी पार्टी प्रमुख ने पंजाब चुनाव को लेकर कहा कि ज्यादातर लोग कह रहे हैं कि चुनाव परिणाम अकालियों के प्रति लोगों का गुस्सा है। अांकड़ों का हवाला देते हुए केजरीवाल ने कहा कि AAP को 25 फीसद वोट मिले और शिरोमणि अकाली दल को 31 फीसद वोट मिले। यह कैसे संभव है?                                            न्होंने कहा कि हमें पूरा शक है कि EVM के माध्यम से AAP के वोट भाजपा और अकाली गठबंधन को दे दिए गए। दिल्ली के सीएम केजरीवाल सवाल उठाया कि पहले भाजपा ने EVM का विरोध किया था अब सत्ता में आ गए हैं तो कहते हैं कि गड़बड़ी नहीं हो सकती। इसकी जांच होनी चाहिए। केजरीवाल ने कहा कि आगे के चुनाव EVM से न कराए जाएं। हालांकि, दिल्ली एमसीडी चुनाव ईवीएम से ही होंगे, इसका एलान मंगलवार शाम को चुनाव आयोग ने कर दिया था।