News Description
सावित्रीबाई फुले की जयंती को महिला शिक्षिका दिवस घोषित हो

गुरुग्राम: ऑल इंडिया सैनी सेवा समाज ने सावित्रीबाई फुले की जयंती को महिला शिक्षिका दिवस घोषित करने की मांग की है। इसके लिए बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री के नाम सिटी मजिस्ट्रेट मनीषा शर्मा को ज्ञापन सौंपा। समाज के जिला प्रधान रोशनलाल सैनी ने कहा कि महात्मा ज्योतिराव फुले ने समाज में फैली रुढि़वादी और गैर मानवतावादी परम्पराओं से लोहा लेते हुए कन्या विद्यालय खोले। नारी शक्ति को शिक्षित करने के लिए किए गए प्रयासों में सर्वप्रथम अपनी धर्मपत्नी सावित्रीबाई फुले को पढ़ाया। उसके बाद सावित्रीबाई फुले की मदद से स्त्री शिक्षा का सूत्रपात हुआ।

सावित्रीबाई फुले ने पहली भारतीय शिक्षिका बनने का गौरव हासिल किया। इस वजह से ही मांग है कि उनके जन्म दिवस को महिला शिक्षिका दिवस घोषित किया जाए। ज्ञापन सौंपने वालों में समाज की महिला प्रधान नीलम सैनी, युवा प्रधान हितेश सैनी, कानूनी सलाहकार एडवोकेट मुकेश सैनी, सह सचिव बुधराम सैनी, ब्लाक प्रधान नानक चंद सैनी, लक्ष्मी ताई, संदीप सैनी, मनीष सैनी, राजेश सैनी एवं गगनदीप सैनी आदि शामिल थे।