# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
छह घंटे तक इनेलो के कब्जे में रहे दो हाईवे

: एसवाईएल को लेकर सोमवार को जिला भर से पहुंचे इनेलो कार्यकर्ताओं ने डबवाली के गोल चौक पर मलोट और ब¨ठडा रोड करीब छह घंटे जाम रखा। आंदोलन का नेतृत्व सांसद चरणजीत रोड़ी कर कर रहे थे। मौके पर सिरसा के एमएलए मक्खन लाल ¨सगला, रानिया के एमएलए रामचंद्र कंबोज, कालांवाली के एमएलए बलकौर ¨सह तथा अभय ¨सह चौटाला के बेटे अर्जुन चौटाला मौजूद रहे। डबवाली की विधायक नैना चौटाला तथा इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय ¨सह चौटाला की अनुपस्थिति चर्चा का विषय बनी हुई है। चूंकि आंदोलन का नेतृत्व सांसद के साथ-साथ दिग्विजय ने करना था।

इनेलो कार्यकर्ता सुबह 9 बजे ही गोल चौक पर जुटना शुरु हो गए थे। करीब साढ़े 9 बजे युवा इनेलो नेता धर्मवीर नैन डबवाली पहुंचे तो कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर बीडीपीओ कार्यालय के सामने ब¨ठडा रोड पर टायर फेंककर जाम लगा दिया। केंद्र के साथ-साथ हरियाणा-पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरु कर दी। इसके बाद मलोट रोड पर पहुंचकर जाम लगा दिया। हालांकि इनेलो का अल्टीमेटम पंजाब के वाहनों को रोकने का था। लेकिन उलटा हो गया। कार्यकर्ताओं ने हरियाणा तथा राजस्थान के वाहनों को भी पंजाब की ओर जाने नहीं दिया। जिस समय जाम लगाया गया था, उस समय इनेलो कार्यकर्ताओं की गिनती पुलिस जवानों से बहुत कम थी। लेकिन मौका पर सेंट्रल रिजर्व फोर्स समेत डीएसपी रतनदीप ¨सह बाली तथा डीएसपी र¨वद्र ¨सह के नेतृत्व में खड़ी जिला भर की पुलिस मूक दर्शक बनकर तमाशा देखती रही। हालांकि हालातों का जायजा लेने के लिए एसएसपी सिरसा स¨तद्र गुप्ता भी मौका पर पहुंचे थे। इधर पहले से ही रुट डायवर्ट करने को तैयार खड़ी पुलिस ने जाम लगते ही नाकाबंदी के जरिए ¨लक रोड से वाहनों को निकालना शुरु कर दिया। हालांकि गर्मी से बेहाल कार्यकर्ता रास्ते से हटकर सड़क किनारे लगाए गए टेंट के नीचे जा बैठे थे। हाईवे पर केवल टायर पड़े थे। इसके बावजूद पुलिस ने टायरों को हटाने का प्रयास नहीं किया।

सुबह करीब साढ़े 9 बजे से शुरु हुआ जाम, शाम करीब साढ़े 3 बजे तक रहा। वहीं रुट डायवर्ट होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।