# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
वाहे वाहे गो¨बद ¨सह आपे गुर चेला

फतेहाबाद: वाहे वाहे गोबिंद ¨सह आपे गुर चेला, तूं मेरा राखा सबनी थाहीं, कहीं प्रकाश हमारा भयो, मैं हा गुनाहगार मालका तूं हैं बख्शनहार, उनादे कुर्बान जावां जेडे तेरा नाम जपदे, बाजां वाला मेरा सतगुर जिसने कौम की खातर सरबंस वार दिता आदि शब्दों के माध्यम से गुरु की महिमा का गुणगान किया गया। गुरु गो¨बद ¨सह के प्रकाश दिवस के उपलक्ष्य में मेन बाजार स्थित गुरुद्वारा ¨सह सभा में दीवान सजाया गया। इसी उपलक्ष्य में रखे गए अखंड पाठ का भोग डाला गया। इसके बाद गुरु का दीवान सजाया गया। दीवान में सुखदेव ¨सह रागी जत्था फरीदाबाद व अमृतसर का ढाडी जत्था भाई र¨वद्र ¨सह के अलावा स्थानीय बलजीत ¨सह रागी जत्था व अजीत ¨सह रागी जत्थे ने गुरु की बाणी का गुणगान कविसरी, वार व शब्दों के माध्यम से किया। समागम में मंच संचालन गुरुद्वारा ¨सह सभा प्रबंधन कमेटी के महासचिव महेंद्र ¨सह वधवा ने किया। इस अवसर पर बताया कि गुरु गो¨बद ¨सह ने ही देश व कौम की रक्षा के लिए सिख पंथ की स्थापना की थी जिसके लिए उन्होंने पांच प्यारे बनाए थे। पांच प्यारे बनाने के बाद जब गुरु ने खुद को सिख बनाने की बात कही तो किसी शिष्य ने कहा कि गुरु ये क्या बात हुई कि एक शिष्य भी एक सिर दे और गुरु भी तो गुरु ने कहा कि जरुरत पडी तो मैं अपने पूरे वंश को देश और कोम की खातिर कुर्बान कर दूंगा। यहीं हुआ कि गुरु जी के साहिबजादे भी मुगलों के जुल्मों के सामने नहीं झुके और हंसते हंसते देश व कौम की खातिर अपने आपको कुर्बान कर दिया। इस अवसर पर गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान हरचरण ¨सह एडवोकेट, कुलवंत जोहल, एसएस मल्होत्रा, गुरशरण ¨सह, सुरेंद्र वधवा, महेंद्र ¨सह ग्रोवर, अवतार ¨सह मोंगा, संतोख ¨सह वधवा, रमनदीप ¨सह, कुलदीप ¨सह सहित अनेक संगत उपस्थित थी। इस अवसर पर गुरु का अटूट लंगर भी चलाया गया।