News Description
ग्रामीण विकास बैंक द्वारा चलाया जल सरंक्षण जागरूकता अभियान

राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) द्वारा करनाल के 435 गाँवों में पानी के महत्व के बारे में हितधारकों के बीच जल सरंक्षण जागरूकता अभियान के तहत जल के कुशल उपयोग व प्रबंधन को बढ़ाने हेतु चलाया गया कार्यक्रम के सम्पूर्ण होने पर जिला विकास प्रबंधक सुशील कुमार द्वारा 46 जलदूतों की 23 टीमों के अनुभव पर चर्चा सत्र का आयोजन किया गया।

 कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में भाग लेते हुए डॉ प्रियंका सोनी, अतिरिक्त उपायुक्त, करनाल ने नाबार्ड द्वारा जिले भर में चलाये गए जल सरंक्षण अभियान की प्रशंसा की तथा उन्होंने इस कार्यक्रम को सरकार द्वारा चलाये गए स्वच्छता कार्यक्रम से समन्वय करने के बारे में सुझाव दिया । इस मौके पर उन्होंने आवाह्न किया कि कृषि कार्यों हेतु सूक्ष्म सिंचाई की तकनीक का प्रयोग करना चाहिए, जिससे खेती में 70 प्रतिशत तक जल को बचाया जा सकता है।

उन्होंने आह्वान किया कि यह अभियान वालंटियर्स के रूप अपनाने की जरुरत है तथा हमारे समाज में निहित है उन्होंने सभी जलदूतों विशेष रूप से महिला जलदूतों ् को सराहा । डा. समर सिंह, क्षेत्रीय निदेशक, चौ. चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय ने कृषि में जल बचाने हेतु लेजर लैंड लेवलर व हैप्पी सीडर के प्रयोग तथा सब्जियों, फलों व फूलों की खेती टपका/ फव्वारा सिंचाई, मल्चिंग के प्रयोग से जल बचाने का के बारे में जागरूक किया ।