# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत सम्मेलन आयोजित

नारनौल: प्रधानमंत्री की बहुत ही महत्वांकाक्षी योजना स्वच्छ भारत मिशन को प्रगति दिलाने के लिये आज खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी कार्यालय सीहमा में खण्ड सीहमा के पंच, सरपंच, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता तथा स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण से जुड़े अमले का एक सम्मेलन स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत आयोजित किया गया। इसमें भारी संख्या में पंच, सरपंच, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता जागरूक ग्रामीण आदि ने भाग लिया।
इस अवसर पर परियोजना अधिकारी गोबिन्द राम शर्मा ने सभी उपस्थित जन समूह को आवहान किया कि हरियाणा सरकार ने 26 जनवरी 2018 तक पाॅलिथीन मुक्त करने का निर्णय लिया है। अतः हस सभी मिलकर जिला महेन्द्रगढ के सभी गांवों को 26 जनवरी 2018 तक हर हालत में पाॅलिथीन मुक्त करने का अथक प्रयास करेंगे। इसके लिये सभी पंचायते गांवो में मुनादी करवायेगी प्रचार-प्रसार करवाये तथा लोगो को पाॅलिथीन की थैली बाहर ना फेकने के लिये प्रेरित करेंगी सभी लोग पाॅलिथीन की थैलिया घर में एकत्रित करेगें और सरपंच के पास जमा करवायेगे इसके लिये सरपंच उन्हे उन के बदले कुछ पैसे भी देंगे बाद में सरपंच उन थैलियो को रेवाड़ी में स्थित पाॅलिथीन रिसाईक्लिंग करने वाली कम्पनी को बेच देंगे।
इस मौके पर सभी ने जिले को पाॅलिथीन मुक्त बनाने की शपथ भी दिलाई की ना तो हम पाॅलिथीन बाहर फेंकेग ना किसी को बाहर खुले में फेंकने देंगें।
 खण्ड सीहमा के जाट गुवाना, खतरीपुर, छापड़ा सलीमपुर, हुडिना सुरानी, खासपुर, नुनीकलां व आजनगर के सरपंचो ने कहा कि 10 जनवरी 2018 तक गांवो को पाॅलिथीन मुक्त करने को पूर्ण प्रयास करेंगे। इस अवसर पर उपस्थित जनो को आवहान किया कि खुले में शौच मुक्त के स्टेटस को बरकरार रखना है। इसके लिये गावों में गठित निगरानी कमेटियां ठोस एवं तरल कचरा के निपटारे के लिए महात्मा गांधी नरेगा स्कीम के अन्तर्गत गन्दे पानी की निकासी करवाकर  थ्री पोण्ड सिस्टम के जरिये उसे शोधन कर पौधो में पानी देने में तथा चिनाई के कार्य में प्रयोग कर सकते हैं।
घरो से ठोस कचरा एकत्रित कर उसे गलनशील, अगलशील तथा पत्थर कांच अन्य धातुओ को अलग-अलग कर गलनशील कचरे से जैविक खाद बनाने को सुझाव दिया इसमें पंचायते अपने गांव से गन्दगी को दूर कर आमदनी का एक जरिया भी स्थापित कर सकती है। इससे वातावरण व गांव साफ सुथरा होगा बिमारियों से छुटकारा मिलेगा।