News Description
प्रदर्शन कर किसानों ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

 रादौर : दादूपुर-नलवी नहर परियोजना को बंद करने से गुस्साए किसानों ने बृहस्पतिवार को राज्य सरकार के विरोध में प्रदर्शन किया। उसमें बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे।

किसान नेता डॉ. जरनैल ¨सह पंजेटा, कमल चमरोड़ी, सुनील कौशल बरहेड़ी, राजेश दहिया व अर्जुन सुढैल के नेतृत्व में किसानों ने कांबोज धर्मशाला से लेकर बीडीपीओ कार्यालय तक रोष मार्च निकाला और सरकार के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की। बाद में किसानों ने एसडीएम डॉ. पूजा भारती को सीएम के नाम ज्ञापन सौंपकर सरकार से दादूपुर-नलवी नहर को बंद करने के आदेश वापस लिए जाने की की मांग की। किसानों ने घोषणा की है कि यदि सरकार ने उनकी मांगों को पूरा नहीं किया तो किसान भाजपा नेताओं को गांव में घुसने नहीं देंगे और आगामी चुनावों में भाजपा पार्टी को बुरी तरह से हराने का काम करेंगे। डॉ. जरनैल ¨सह पंजेटा व कमल चमरोड़ी ने कहा कि दादुपुर नलवी नहर उत्तर हरियाणा के किसानों की जीवन रेखा है। सरकार ने दादुपुर नलवी नहर को बंद करने की घोषणा करके किसानों की कमर तोड़ने का काम किया है। दादूपुर नलवी नहर बंद होने से भूमि जलस्तर तेजी से नीचे जाएगा, जिससे किसानों के लिए बिना पानी के खेती करना मुश्किल हो जाएगा। दादुपुर नलवी नहर से भूमि जलस्तर बना रहता है और किसानों को फायदा होता है। पिछले लगभग 135 दिनों से यमुनानगर में किसान दादुपुर नलवी नहर के मामले को लेकर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन चलाए हुए हैं, लेकिन सरकार किसानों की अनदेखी कर रही है।

इसका खामियाजा भाजपा पार्टी को भुगतना पड़ेगा। मौके पर अर्जुन सुढैल, मनोज राणा पालेवाला, करनैल ¨सह नंबरदार सढूरा, कुनाल कांबोज, राजेश, रोशन, कश्मीरा ¨सह, गुरदेव ¨सह, प्रेम ¨सह, जसबीर ¨सह, सुरेश भागुमाजरा, दलबीर ¨सह, ¨प्रस, सुबे ¨सह, अनूप, चंद्रभान आदि उपस्थित थे