News Description
नगर निगम की 1100 एकड़ जमीन लावारिस, नहीं हो पाई तारंबदी

यमुनानगर : नगर निगम की 11 एकड़ जमीन भू-माफिया के निशाने पर है। साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में अधिकारी जमीन की तारबंदी तक नहीं करवा पाए। जबकि हाउस की पहली बैठक में ही यह प्रस्ताव पास हो गया था और हर बैठक में पार्षदों ने यह आवाज उठाई। सबसे अधिक 40 एकड़ जमीन वार्ड नंबर-18 में है। तारबंदी न होने के कारण निगम की जमीन पर अवैध कब्जे लगातार हो रहे हैं। कई जगह तो टेंडर होने के बावजूद जमीन को सुरक्षा नहीं दी गई।

दूसरी ओर जमीन उपलब्ध न होने का हवाला देकर नगर निगम अधिकारी शहर से जुड़ी विकास परियोजनाओं को रद कर रहे हैं। सीएम घोषणाओं में शामिल ऐसी कई योजनाएं रद कर की जा चुकी हैं। इन योजनाओं में ट्रांसपोर्ट नगर व सीईटीपी लगाने जैसे योजनाएं शामिल हैं। इसके अलावा ट्विन सिटी को पार्किंग की भी दरकार है। नगर निगम की जमीन पर लोग अवैध कब्जे कर रहे हैं, लेकिन निगम की ओर से उसके सदुपयोग व सुरक्षा के लिए कदम नहीं उठाए जा रहे हैं।