News Description
पेयजल की नहीं होगी किल्लत, अवैध कनेक्शनों पर रहेगा ध्यान

यमुनानगर : पेयजल संरक्षण के मामले में जिले में संतोषजनक स्थिति है। फिर भी जनस्वास्थ्य विभाग ने विभिन्न स्थानों पर ट्यूबवेल लगाने का निर्णय लिया है। वर्तमान में शहर में 91 ट्यूबवेल से जलापूर्ति हो रही है। नई योजना में भाटियानगर, तिलकनगर, लक्ष्मीनगर और एसपी निवास के नजदीक ट्यूबवेल लगाने की रूपरेखा विभाग ने बनाई है। इन कॉलोनियों में करीब 20 हजार की आबादी है। साथ ही अवैध कनेक्शन को वैध कराने पर विभाग का ध्यान रहेगा।

जनस्वास्थ्य विभाग के एसडीओ सुमित गर्ग ने बताया कि भाटियानगर में ट्यूबवेल फेल हो गया था। सीजन के दौरान पेयजल किल्लत न हो। इसके लिए यह फैसला लिया गया है। इसके साथ ही लक्ष्मी नगर के नजदीक कॉलोनी में ट्यूबवेल इस वर्ष लगाया जाएगा। इसी तरह तिलकनगर में भी ट्यूबवेल लगाया जाना है। उनका कहना है कि जिले में पेयजल की कोई परेशानी नहीं है। हर कॉलोनी, गांव तक पेयजल आपूर्ति हो रही है।

उन्होंने बताया कि जिनके घरों में पानी के मीटर नहीं हैं, उनको मीटर लगवाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इससे उनका फायदा है, क्योंकि मीटर वाले घरों में 48 रुपये प्रति माह फिक्स है, जिन घरों में नहीं लगे हैं। उनको इसके डबल बिल देना पड़ता है। अवैध कनेक्शन का पता लगाने के लिए सक्षम को रखा गया है। उनके माध्यम से सर्वे कराया जा रहा है। विभाग ने योजना बनाई है पता लगाकर सभी को वैध किया जाए। पेयजल किल्लत न हो इसके लिए भी अभियान चलाया जाएगा। इसके तहत लोगों को जल संरक्षण का महत्व बताए जाने की योजना है। वैसे यह फिलहाल चल रहा है। इसमें तेजी लाई जाएगी।