News Description
सफाई व्यवस्था बेहतर, गंदे पानी की निकासी के नाले व सीवर व्यवस्था बनी परेशानी

झज्जर : शहर के वार्ड नंबर पांच में सफाई व्यवस्था काफी हद तक ठीक है। अगर कहीं कमी भी है तो वह सीवर व गंदे पानी की निकासी के नालों की सफाई की है। अगर प्रशासन की तरफ से थोड़े से प्रयास किए जाएं तो वार्ड स्वच्छ व सुंदर हो सकता है। मात्र दो सफाई कर्मचारी बढ़ाकर व कूड़ा डालने के लिए निर्धारित किए गए स्थानों से समय पर कूड़ा उठाने की आवश्यकता है। गंदे पानी की निकासी के नालों का दिल्ली गेट में जुड़ाव कर दिया जाए और सीवर लाइनों की सफाई कर सड़क निर्माण के दौरान नीचे दबे सीवर के मेन होल बाहर निकाल दिए जाएं तो वार्ड पूरी तरह से स्वच्छ हो जाएगा। वार्ड पार्षद अपने वार्ड को 10 में से 8 नंबर दे रही हैं। वार्ड के अंतर्गत आने वाली कॉलोनियों में दिल्ली गेट, देव नगर, लाल ¨सह कॉलोनी, डिफेंस कॉलोनी, घोषियान मोहल्ला क्षेत्र पड़ते हैं। करीब 6 हजार की आबादी वाले वार्ड में करीब 2288 मतदाता है। वार्ड की सफाई के लिए नगर पालिका की तरफ से मात्र 4 सफाई कर्मी तैनात किए हुए है। जिनमें से दो रेहड़ी वाले व दो कर्मचारी झाडू वाले है। जबकि एक कर्मचारी वार्ड पार्षद ने स्वयं अपने खर्चे पर वार्ड की सफाई के लिए लगाया हुआ है। अगर इन कर्मचारियों की संख्या बढ़ा दी जाए तो हालात पूरी तरह से बेहतर हो जाएंगे।

-----

राष्ट्रीय स्तर पर स्वच्छता को लेकर सर्वेक्षण शुरू हो चुका है। किसी भी दिन झज्जर में भी केंद्र सरकार की तरफ से टीम को झज्जर भेजा जा सकता है। इस दिशा में दैनिक जागरण की तरफ से भी प्रयास किए जा रहे हैं कि शहर किस प्रकार से स्वच्छ हो और किन स्थानों पर किस प्रकार के हालात हैं। कहां पर सुधार की आवश्यकता है। इसके लिए जागरण आपके द्वार कार्यक्रम के तहत शहर के सभी वार्डों में जाकर वहां के हालात जानने का प्रयास किया शुरू किया है। ताकि लोगों की समस्याओं का निदान हो सके।और उठाए जाने वाले कदमों में इन सभी तथ्यों पर गौर करते हुए कदम उठाएं जाएं। दैनिक जागरण का सदैव प्रयास भी रहा है कि स्वच्छता के विषय के साथ-साथ हम उसकी अहमियत को भी समझें। चूंकि स्वयं के बदलने से ही बदलाव का आना संभव है। ताकि वार्ड-दर-वार्ड पहुंचते हुए पूरे शहर की स्थिति को सामने लाया जा सके।