# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
गौरव पटों के लिए जुटाए तथ्यों में मिलीं गलतियां, एडीसी ने अधिकारियों को फटकारा

हिसार : गांवों की गौरवगाथाएं दर्शाने वाले गौरव पटों की स्थापना के लिए सभी नौ खंडों के पंचायत अधिकारियों ने अपने-अपने खंडों के पांच-पांच गांवों के विवरण बृहस्पतिवार को अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालय में बैठक के दौरान एडीसी एएस मान के समक्ष प्रस्तुत किए। एडीसी ने गौरव पटों के लिए संकलित किए गए तथ्यों का अध्ययन किया। एडीसी को अधिकारियों के जुटाए तथ्यों में काफी गलतियां मिलीं। उन्होंने अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि इस काम को सतर्कता के साथ पूरा करना है। किसी भी गौरव पटों पर गलतियां स्वीकार नहीं की जाएंगी। अगर ऐसी गलती हुई तो संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। उन्होंने कमियों के सुधार के संबंध में अधिकारियों को व्यापक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अगली बैठक में अधिकारी अपेक्षित सुधार सहित नए गांवों के विवरण साथ लेकर आएं।

उल्लेखनीय है कि जिला के सभी गांवों में वहां के ऐतिहासिक महत्व, गांव की उपलब्धियों, वहां के महान व्यक्तित्वों, खिलाड़ियों और स्वतंत्रता सेनानियों के योगदान को दर्शाते गौरव पटों की स्थापना की जानी है। इसके लिए सभी गांवों के गौरव पटों के लिए विवरण जुटाने के लिए विभिन्न विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। कार्य की समीक्षा के लिए इस कार्य के लिए गठित समिति के सदस्यों की बैठकें भी अतिरिक्त उपायुक्त की अध्यक्षता में बैठक होती हैं। इस कड़ी में पिछली बार की बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त एएस मान ने पंचायत अधिकारियों को कम से कम पांच गांवों के विवरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिए थे।

इसी संदर्भ में एडीसी कार्यालय में आयोजित एक बैठक के दौरान अतिरिक्त उपायुक्त एएस मान के समक्ष पंचायत अधिकारियों ने गौरव पटों के लिए पांच-पांच गांवों के विवरण प्रस्तुत किए। अतिरिक्त उपायुक्त ने सभी गांवों के विवरणों का बारीकी से अध्ययन किया। उन्होंने विवरणों में कई कमियों की ओर अधिकारियों का ध्यान दिलाते हुए तथ्यों में शुद्धता का पूर्ण ध्यान रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अधीनस्थ कर्मचारियों से संकलित करवाए गए तथ्यों को अधिकारी स्वयं सत्यापित करें। तथ्यों के सत्यापन के बिना इन्हें गौरव पटों पर अंकित नहीं करवाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि जिस गांव के तथ्यों में गलतियां पाई जाएंगी उसके लिए संबंधित अधिकारी स्वयं जिम्मेदार होगा।

ऐसे करें काम

उन्होंने कहा कि गौरव पटों के लिए तथ्यों के संकलन में अधिकारी गांव के नंबरदार, सेवानिवृत्त शिक्षकों व गणमान्य बुजुर्गो की मदद लें ताकि तथ्य वेरीफाई किए जा सकें। उन्होंने कहा कि सभी तथ्य एकत्र होने के बाद ¨हदी विशेषज्ञों से भाषा व व्याकरण की शुद्धता करवाई जाएगी ताकि गलत तथ्य अंकित न होने पाएं। उन्होंने ग्रामीणों से भी आह्वान किया कि वे अपने गांव के गौरव के संबंध में प्रशासन को सूचित करने के लिए आगे आएं, क्योंकि गांव का गौरव पट्ट गांव की उपलब्धियों को दर्शाने वाला एक स्थाई स्तंभ होगा जिस पर पूरे गांव को गर्व होगा।

ये अधिकारी रहे मौजूद

इस अवसर पर डीडीपीओ अशवीर ¨सह, आरडीए के जिला परियोजना अधिकारी डॉ. राजकुमार नरवाल, समिति सदस्य डीआइपीआरओ पारू लता, एसडीओ प्रेम ¨सह, पेशल कुमार, नरेंद्र कुंडू, नरेश कुमार मेहता, अभिषेक नैना, विजय कुमार व जेई इंद्र ¨सह सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।