News Description
कैमरों से निगरानी के साथ हो सकेगी इमरजेंसी कॉल

गुरुग्राम शहरी स्थानीय निकाय विभाग हरियाणा के प्रधान सचिव आनंद मोहन शरण ने बृहस्पतिवार को नगर निगम क्षेत्र में सीसीटीवी निगरानी प्रणाली का शुभारंभ किया। इसके तहत नगर निगम की ओर से शहर में 15 जगहों पर 61 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, लेकिन इनमें से छह स्थानों पर फिलहाल इमरजेंसी कॉ¨लग की सुविधा भी शहर के लोगों को मिलेगी। साइबर सिटी में लगाए गए सीसीटीवी कैमरे सिर्फ निगरानी ही नहीं करेंगे। इन कैमरों में लगे इमरजेंसी कम्युनिकेशन बॉक्स के जरिए आप आपात स्थिति में पुलिस को भी सूचना दे सकते हैं। सीसीटीवी कैमरे के पोल के नीचे एक बॉक्स लगाया गया है। आपात स्थिति में इस बॉक्स में लगे लाल रंग के बटन को दबाना होगा। बटन दबाते ही पुलिस आयुक्त कार्यालय में बने कैमरों के कंट्रोल रूम में घंटी जाएगी और फोन की तरह ही बातचीत हो सकेगी। कई बार पुलिस कंट्रोल रूम के 100 नंबर को बार-बार डायल करने के बावजूद भी पुलिस का रेस्पांस नहीं मिलता है। इमरजेंसी कम्युनिकेशन बॉक्स खासतौर पर रात के समय काफी मददगार साबित होंगे।

इन जगहों के कैमरों से कर सकेंगे इमरजेंसी कॉल

शहर में पांच जगहों लघु सचिवालय, मोर चौक, मस्जिद चौक, सदर बाजार, अग्रसेन चौक और द्रोणाचार्य कॉलेज के सामने लगे सीसीटीवी कैमरे पर लगे इमरजेंसी कम्युनिकेशन बॉक्स के जरिए कोई भी व्यक्ति कॉल कर पुलिस को अपराध या किसी घटना की सूचना दे सकता है। इन दिनों शहर में रात के समय अपराध की काफी घटनाएं बढ़ गई हैं। सीसीटीवी कैमरों के नीचे लगे इमरजेंसी कम्युनिकेशन बॉक्स लोगों के लिए काफी मददगार साबित होंगे। कैमरे लगाने वाली कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि भविष्य में इन बॉक्स की संख्या को बढ़ाया भी जा सकता है।

ई चालान की सुविधा भी अगले चरण में

पॉलिएक्सेल सिस्टम्स लिमिटेड द्वारा शहर में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। सोहना रोड पर वन विभाग के कार्यालय के सामने पांच एएनपीआर यानि ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रिकग्निशन कैमरे भी लगाए गए हैं, जो वाहनों की नंबर प्लेट पर फोकस करते हैं। अपराधी या ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों पर इन कैमरों से निगरानी रहेगी। कंपनी के अधिकारियों के मुताबिक भविष्य में इन एएनपीआर कैमरों के जरिये निगरानी कर ट्रैफिक रूल तोड़ने वालों के ई चालान यानी घर तक चालान भेजे जा सकेंगे।