News Description
प्रशासन व संबंधित विभागों का रहेगा जल संरक्षण पर जोर

सोनीपत: मनुष्य के जीवन के लिए जल महत्वपूर्ण है। जल के बिना जीवन संभव नहीं है। इसके बावजूद एक तरफ जहां जल व्यर्थ में बहाया जा रहा, वहीं अनावश्यक रूप से जल का दोहन भी किया जा रहा है । यही वजह है कि जिले का जलस्तर लगातार कम होता जा रहा है।

हालांकि पिछले कुछ वर्षों से इस तरफ शासन-प्रशासन का ध्यान गया है,लेकिन इस पर सुनियोजित तरीके से काम करने की जरूरत है। ऐसे में प्रशासन व संबंधित विभागों का इस वर्ष जल संरक्षण पर काफी जोर रहेगा। इसके लिए योजनाबद्ध तरीके से तैयारी की जा रही है। अब कहीं पर भी जल की व्यर्थ बर्बादी सहन नहीं की जाएगी। कृषि विभाग, ¨सचाई विभाग, हुडा, नगर निगम और जनस्वास्थ्य विभाग के सहयोग से जल संरक्षण की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाए जाएंगे। पानी बर्बाद करने वालों से प्रशासन और संबंधित विभाग सख्ती से निपटेगा।

किसानों को कम पानी वाली फसलों को उगाने के लिए किया जा रहा प्रेरित जल संरक्षण की दिशा में कृषि विभाग द्वारा किसानों को कम पानी वाली फसलों को उगाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। यहां पर सबसे अधिक धान और गेहूं की फसल होती है। इसमें धान की फसल में पानी की बहुत खपत होती है। इसलिए कृषि विभाग किसानों को कपास व मक्का की फसलों को उगाने के लिए प्रेरित करेगा।

इनमें पानी की कम खपत होती है और पैदावार भी बढि़या होती है। इसके अलावा फसल विविधीकरण का महत्व भी किसानों को समझाया जाएगा। लेजर लेव¨लग तकनीक अपनाई जाएगी, जिससे 15 से 20 फीसद प्रति एकड़ पानी की बचत होती है। इससे फसल की पैदावार भी अच्छी होगी और पानी भी कम लगेगा