# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
965 लाख रुपये खर्च कर डाली जाएंगी एबी केबल

सांपला : बिजली निगम के उपभोक्ताओं को बिजली की सप्लाई में होने वाली समस्या से निजात मिलने वाली है। इसके लिए 965 लाख रुपये खर्च कर एबी केबल डाली जाएंगी। इससे बिजली सप्लाई में कोई बाधा नहीं आएगी। केन्द्र सरकार की ओर से दीनदयाल उपाध्याय योजना के तहत हर गांव में बिजली सप्लाई के लिए व्यवस्था में सुधार किया जाएगा। योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए पूरा प्रारूप सब डिविजन कार्यालय में आ चुका है।

जानकारी के अनुसार, बिजली की सप्लाई में कोई परेशानी न हो इसके लिए 2015 में दिनदयाल उपाध्याय योजना का खाका तैयार किया गया था। अब इसे धरातल पर उतारा जा रहा है। योजना को पूरा करने के लिए वित्त वर्ष 2017-18 तक का समय निर्धारित किया गया है। योजना के तहत हर गांव में एक नया ट्रांसफार्मर लगाने के साथ कम से कम एक किलोमीटर एबी केबल डालने का प्रावधान है। वहीं, अगर किसी गांव में जहां भी ट्रांसफार्मर की जरूरत होगी वहां अतिरिक्त ट्रांसफार्मर रखे जाएंगे। साथ ही, क्षतिग्रत एवं खुले तारों को हटाकर एबी केबल डाली जाएगी। एबी केबल डालने से जहां बिजली की चोरी पर अंकुश लग सकेगा, वहीं लाइन लॉस से भी छुटकारा मिलेगा। योजना के तहत ग्रामीणों को काफी हद तक बिजली की सप्लाई के दौरान आने वाली समस्या से छुटकारा मिलेगा। इसके अतिरिक्त लोड ज्यादा होने से ट्रांसफार्मरों में आने वाली समस्या से भी निजात मिलेगी। योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए निगम के अधकारी बैठक करके खाका भी तैयार कर चुके हैं।

योजना के तहत आने वाले कुछ माह में काफी हद तक सुधार कर लिया जाएगा। योजना के तहत जिला स्तर पर करीब 965 लाख रूपये सुधारीकरण पर खर्च होगें। निगम की तरफ से हर गांव में इसके लिए सर्वे किया जा रहा है। सर्वेक्षण टीम अपनी रिपोर्ट सब डिविजन अधिकारी को देगी। इसके बाद पूरी स्टेटस रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेजी जाएगी।