News Description
यमुनानगर का किडने¨पग केस, एसडीएम आफिस से बरामद

अंबाला शहर : 30 अक्टूबर, 2017 को यमुनानगर के खिजराबाद इलाके में हुई किडने¨पग की घटना में पुलिस ने 65 वर्षीय अपहृत बुजुर्ग संजीव शर्मा की कार अंबाला छावनी के एसडीएम कार्यालय से बरामद कार ली है। लावारिस हालत में मिली इस कार से पुलिस को अपहृत व्यक्ति द्वारा लिखा गया सुसाइड नोट बरामद हुआ है, जिसमें उसने पवन कुमार, संदीप व वेद प्रकाश को मौत के लिए दोषी बताया है। खिजराबाद थाने में भी संजीव कुमार के बेटे कमल शर्मा के बयानों पर अपहरण की धारा 365 के तहत इन्हीं लोगों के खिलाफ केस दर्ज है। बृहस्पतिवार को सार्वजनिक हुई घटना के बाद यमुनानगर पुलिस लावारिस ऑल्टो कार को अपने साथ ले गई। सबसे हैरान कर देने वाली बात है कि अभी तक न तो मृतक मिला न ही उसका शव। कार मिलने से एक बारगी हड़कंप की स्थिति पैदा हो गई।

जानकारी के अनुसार दोपहर बाद पुलिस को सूचना मिली कि एसडीएम आफिस की पार्किग में पिछले काफी समय से एक लावारिस कार खड़ी है। इसके बाद डीएसपी छावनी सुरेश कौशिक व छावनी थाना प्रभारी शमशेर ¨सह दल बल सहित मौके पर पहुंचे। तलाशी के दौरान कार से एक संजीव शर्मा द्वारा लिखा गया एक सुसाइड नोट मिले, जिसमें उपरोक्त लोगों के नाम लिखे थे। संजीव शर्मा द्वारा लिखा गया था कि उसने नामजद लोगों से करीब 3.20 लाख रुपये लेने थे लेकिन वह करीब 12 लाख मांग रहे हैं। इससे परेशान होकर वह आत्महत्या कर रहा है। सुसाइड नोट के बाद हरकत में आई छावनी पुलिस ने तत्काल कार नंबर के आधार पर यमुनानगर पुलिस को सूचना दी।

वहीं से पता चला कि 30 अक्टूबर को कमल शर्मा की शिकायत पर केस दर्ज हुआ। इसमें उसने अपने पिता संजीव शर्मा के अपहरण की कही। उपरोक्त लोगों पर आरोप लगाया कि इन्होंने पैसों के लेनदेन के लिए उसके पिता को अपहरण किया। इसके बाद से यमुनानगर पुलिस केस की तफ्तीश में जुटी थी लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लग रहा था। छावनी सदर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर शमशेर ¨सह के अनुसार लावारिस कार में मिले सुसाइड नोट के बाद यमुनानगर पुलिस से बातचीत की गई। पता चला कि खिजराबाद थाने में अपहरण का केस दर्ज है। यमुनानगर पुलिस कार ले गई है। वही मामले की जांच कर रही है।