News Description
पत्रकारों को नववर्ष पर CM का तोहफा, प्रतिमाह पेंशन को मंजूरी

कैथल, 4 जनवरी: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेेश के 63 प्रैस प्रतिनिधियों को सरकार द्वारा शुरू की गई पत्रकार पैंशन योजना की शर्ते पूरी करने पर उन्हें 10 हजार रुपए प्रति माह पैंशन को स्वीकृति देकर  नववर्ष का नायाब तोहफा दिया है। मुख्यमंत्री द्वारा गत 27 मई 2017 को पंचकुला में आयोजित पत्रकार सम्मेलन में पत्रकारों हेतू कई सुविधाओं की घोषणा की गई थी तथा गत 26 अक्तूबर 2017 को मनोहर लाल ने प्रदेश के 10 वरिष्ठ प्रैस प्रतिनिधियों को मासिक पैंशन के चैक भेंट कर पत्रकार पैंशन योजना की शुरूआत की थी। इस पैंशन योजना के तहत जिला कैथल के 4 वरिष्ठ प्रैस प्रतिनिधियों को 10 हजार रुपए प्रति माह पैंशन का तोहफा मिला है।  

उपायुक्त सुनीता वर्मा ने बताया कि हरियाणा सरकार प्रदेश के हर वर्ग के कल्याण हेतू कृत संकल्प है। सरकार द्वारा सभी वर्गों के कल्याण के लिए योजनाएं क्रियान्वित की जा रही है। मुख्यमंत्री द्वारा लोकतंत्र के चौथे स्तंभ प्रैस के कल्याण को ध्यान में रखते हुए 60 वर्ष आयु प्राप्त करने वाले प्रैस प्रतिनिधियों को 10 हजार रुपए मासिक पैंशन प्रदान करने की घोषणा मई 2017 में पंचकुला में आयोजित पत्रकार सम्मेलन में की थी। इस सम्मेलन में प्रैस प्रतिनिधियों के कल्याण की अन्य घोषणाएं भी की गई थी। प्रदेश सरकार द्वारा पत्रकार पैंशन योजना को लागू करके यह साबित किया है कि मुख्यमंत्री की कथनी एवं करनी में कोई फर्क नहीं है। सूचना, जन संपर्क एवं भाषा विभाग द्वारा जारी पत्र के अनुसार प्रदेश भर के 63 पात्र प्रैस प्रतिनिधियों को 10 हजार रुपए प्रति माह पैंशन की स्वीकृति प्रदान की गई है। 

उन्होंने बताया कि पत्रकार पैंशन प्राप्त करने वाले 63 प्रैस प्रतिनिधियों में जिला कैथल के 4 पत्रकार शामिल हैं, जिनमें दूरदर्शन के संवाददाता नवीन मल्होत्रा, दि ट्रिब्यून के संवाददाता सतीश कुमार सेठ, दैनिक ट्रिब्यून पूंडरी के संवाददाता सोहन लाल कौशिक तथा विश्व लहर समाचार पत्र के संपादक गोपी चंद जिंदल शामिल हैं। इन प्रतिनिधियों ने पत्रकारों के कल्याण हेतू सरकार द्वारा उठाए गए ऐतिहासिक कदम को सराहनीय बताया है तथा उन्होंने मुख्यमंत्री  मनोहर लाल का पत्रकार पैंशन शुरू करने के लिए धन्यवाद किया है। सरकार द्वारा पत्रकार पैंशन के लिए मुख्य रूप से 3 मापदंड निर्धारित किए थे, जिन्हें पूर्ण करने पर इन पत्रकारों को सरकार द्वारा मासिक पैंशन का तोहफा दिया गया है। इन शर्तों में प्रैस प्रतिनिधि द्वारा कम से कम 20 वर्ष का पत्रकारिता का अनुभव, 5 वर्ष सरकार द्वारा मान्यता तथा 60 वर्ष आयु शामिल हैं।