News Description
26 जनवरी तक गांवों में मिल पाएगी शहरी तर्ज पर बिजली

सिरसा: गांवों में शहरी तर्ज पर बिजली लेने के लिए अभी 26 जनवरी तक का इंतजार करना होगा। बिजली निगम का सुधारात्मक कार्य अभी तक पूरा नहीं हुआ है। करीब 200 गांवों में सुधार का कार्य शुरु किया गया था। कई गांवों में 50 फीसद तो कई में 80 फीसद तक कार्य पूरा हो चुका है। बाकी कार्य पूरा करने के लिए ठेकेदारों व अधिकारियों को जनवरी महीने के 25 दिन और मिल चुके हैं।

26 जनवरी पर खुद मुख्यमंत्री मनोहर लाल या बिजली निगमों के सीएमडी शत्रुजीत कपूर की ओर से 24 घंटे बिजली सप्लाई का शुभारंभ करने की संभावना है। हालांकि पूरे जिले को जनवरी से शहरी तर्ज पर बिजली सप्लाई देने का पहले ही ऐलान हो चुका है।

म्हारा गांव-जगमग गांव योजना के तहत इस समय गांवों में घरों से मीटर बाहर करने, नई तार बिछाने, नए खंभे लगाने का कार्य चल रहा है। मगर दो-तीन से तेज धुंध के साथ एकदम से ठंड बढ़ने के कारण कामकाज बाधित होने लगा है। कर्मचारी पूरे दिन में कुछ घंटे ही काम कर पा रहे हैं। अधिकतर गांवों में खंभे लग चुके हैं जबकि उन पर तार खींचने और घरों से मीटर बाहर कर खंभों पर लगाने का काम अभी बाकी है। इसलिए अधिकारी 25 जनवरी को ही अंतिम तारीख मानकर काम पूरा करवाने में जुटे हुए हैं। कई जगहों पर ठेकेदारों तो कुछ स्थानों पर निगम के कर्मचारी खुद के स्तर पर काम पूरा कर रहे हैं।

करीब एक सप्ताह पहले दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के चीफ इंजीनियर आरके सोढ़ा भी सिरसा में समीक्षा बैठक ले चुके हैं। स्थानीय अधिकारियों द्वारा उनके समक्ष प्रगति रिपोर्ट रखी गई थी। चीफ इंजीनियर की ओर से भी गांवों में कार्य 25 जनवरी तक पूरा करवाने के निर्देश दिए गए हैं। ताकि उसके बाद प्रदेश सरकार की घोषणा को अमलीजामा पहनाया जा सके।

म्हारा गांव-जगमग गांव योजना में शामिल किए गए 60 गांवों में पहले से ही शहरी तर्ज पर बिजली सप्लाई दी जा रही है। योजना के तहत ग्रामीण फीडरों पर सुधार के कार्य पूरे करवाए गए थे। जिसके बाद इन फीडरों से जुड़े 60 गांवों पर सप्लाई 12 व 18 घंटे से बढ़ाकर पहले 21 और उसके बाद 24 घंटे कर दी गई थी