# कारगिल विजय दिवस पर मोदी और जेटली ने दी श्रद्धांजलि         # मनाली में रोहतांग सुरंग के निकट फटा बादल, सड़क बही         # ब्रिटेन मे भारतीय मूल की मुस्लिम युवती की हत्या          # सहारा ग्रुपः सुप्रीम कोर्ट ने 1500 करोड़ रुपये जमा कराने का दिया आदेश         # सरकार ने खत्म किया भारत में ड्राइवरलैस कार का सपना         # भारत ने रिहा किए दस पाकिस्तानी कैदी         # पीएम ने किया बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे, 500 करोड़ राहत पैकेज का एेलान         # 9982 पर निफ्टी, सेंसेक्स में दिखी 45 अंकों की तेजी         # चीन के पीछे हटने पर ही डोकलाम से हटेगी भारत की सेना         # राष्ट्रपति ने नेहरू का जिक्र न किया तो भड़क गई कांग्रेस         दिल्ली कोर्ट ने शब्बीर शाह को 7 दिन की ED रिमांड पर भेजा          # श्रीलंका के खिलाफ दोहरे शतक से चूके शिखर         सोनीपत विधानसभा क्षेत्र के लोग अपने विधायक से सबसे ज्यादा खुश-सर्वे रिपोर्ट        
News Description
टीबी मुक्त हरियाणा अभियान के तहत आज बीसवां कैंप लगाया

टीबी मुक्त हरियाणा अभियान के तहत आज बीसवां (20) कैंप प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सेहलंग में लगाया गया। इस कैंप में डा. विकास टेकवानी ने टीबी के संभावित मरीजों के जांच व एक्स-रे किए। इस कैप में लगभग 55 मरीजों की जांच की गई व लगभग 15 मरीजों के एक्स-रे किए। अन्य मरीजों की जांच के लिए 11 जुलाई को मंढाणा, 12 को कांटी व 13 जुलाई को सिहमा में यह कैंप लगेगा। 
उप सिविल सर्जन डा. अशोक कुमार ने बताया की टीबी मुक्त हरियाणा मिशन के तहत स्वास्थ्य विभाग महेन्द्रगढ एवं मेदान्ता अस्पताल गुडगांव के सहयोग से जिला महेन्द्रगढ के सहयोग से जिन संस्थाओ में एक्स-रे जांच की सुविधाएं नहीं हैं उन संस्थाओं पर टीबी के रोगियों के पहचान के लिए कैंप लगाए जा रहे हैं। 
उन्होंने बताया की टीबी के बहुत से मरीज जिला क्षयरोग केन्द्र नारनौल या नागरिक अस्पताल नारनौल नहीं पहुच पाते हैं। टीबी की जांच के लिए एक्स-रे व बलगम की जांच आवश्यक है। जिले की अधिकतर संस्थाओं में एक्स-रे की सुविधाएं नहीं है,ं जिस कारण टीबी की जांच एवं ईलाज में देरी होती है व मरीज गंभीर अवस्था में टीबी के ईलाज के लिए पहुचता है। 
इन कैंपों में संभावित टीबी मरीजों की जांच व एक्स-रे मुफ्त किये जाएंगे। जिन मरीजों को टीबी से ग्रस्त पाया जाऐगा उनका डॉटस प्रणाली के तहत मुफ्त ईलाज किया जाएगा। जिन मरीजों में टीबी के लक्षण मिलेंगे उनके बलगम की जांच की जाऐगी व बिगड़ी हुई टीबी की जांच के लिए सैम्पल रेवाडी व करनाल की लैब में भिजवाए जाएंगे। इस सप्ताह के अन्य कैंप इस प्रकार लगाए जाएंगे। 
इस मौके पर सरजीत सिंह, राजेंद्र, रणधीर पीएचआई तथा मेदांता अस्पताल से अमित उपस्थित थे।