# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
स्वच्छता के पैमाने पर खरा उतरना बड़ी चुनौती

रेवाड़ी: पर्यावरण संरक्षण की प्रथम सीढ़ी है स्वच्छता। इसको लेकर जितने प्रयास वर्ष 2017 में किए गए उम्मीद है कि इस साल उससे ज्यादा प्रयास होंगे और परिणाम भी बेहतर आएंगे। इस साल बड़ा तोहफा ठोस कचरा प्रबंधन को शुरू करके दिया जा सकता है। इस प्रोजेक्ट के शुरू होते ही शहर से गंदगी की समस्या का समाधान हो जाएगा। पिछले साल खुले में शौचमुक्त हुए ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में इस मुहिम को कायम रखना भी किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है।

बड़ी उम्मीद ठोस कचना प्रबंधन प्रोजेक्ट को लेकर है। राम¨सहपुरा गांव में इस प्रोजेक्ट को लगाया जाना है। वर्ष 2017 में ¨सचाई विभाग के नाम पर चल रही राम¨सहपुरा की जमीन को मशक्कत के बाद नगर परिषद के नाम हस्तांतरित कराने में बड़ी कामयाबी मिली थी। उम्मीद है कि इस साल राम¨सहपुरा की इस जमीन पर ठोस कचरा प्रबंधन प्रोजेक्ट को शुरू कर दिया जाएगा। इस प्रोजेक्ट के लिए टेंडर लगा दिया गया है तथा जनवरी माह में ही खुलना है। ठोस कचरा प्लांट लगने से गंदगी की समस्या का समाधान होगा।

रेवाड़ी शहर पर सबसे गंदा होने का जो दाग दो साल पहले लगा था उम्मीद है इस साल वह धुल जाएगा। शहर की सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए नगर परिषद की तरफ से कई तरह के कदम उठाए जाने हैं। डोर-टू-डोर कचरा उठाने की व्यवस्था को इस साल शुरू किया जाएगा। 1.74 करोड़ से कूड़ा उठाने वाले वाहन आ चुके हैं। इस साल देश भर के शहरों में एक बार फिर से सर्वेक्षण होना है। वर्ष 2016 में रेवाड़ी 469वें नंबर पर रहा था लेकिन इस बार स्वच्छता की रैंक में रेवाड़ी का स्थान सुधरने की उम्मीद है।