News Description
बस सेवा बेहतर न होने से महिला कर्मियों को होती है परेशानी

गुरुग्राम: शहर में सिटी बस सेवा बेहतर न होने से कामकाजी महिलाओं को काफी परेशानी हो रही है। महिलाएं थ्री व्हीलरों से आने-जाने के लिए मजबूर हैं। कई बार छेड़छाड़ की शिकायत सामने आ चुकी है। महिलाओं का कहना है कि कंपनियां न ही बस सेवा और न ही कैब सेवा उपलब्ध कराती हैं। प्रशासन कई वर्षो से कह रहा है कि सिटी बस सेवा बेहतर होगी लेकिन कब होगी, इसका कोई अंदाजा नहीं।

बता दें कि शहर में सैकड़ों की संख्या में कॉल सेंटर हैं। इनमें हजारों महिलाएं काम करती हैं। इसी तरह उद्योग विहार, सेक्टर 37 एवं मानेसर इलाके में गारमेंट्स सेक्टर की औद्योगिक इकाइयों में अधिकतर महिलाएं ही काम करती हैं। सुबह 9 बजे से शाम छह बजे तक इकाइयों में शिफ्ट है। कई बार काम अधिक होने की वजह से देरी भी हो जाती है। गारमेंट्स सेक्टर से संबंधित गिनती की इकाइयों में कैब या बस सुविधा है। इस वजह से महिलाएं थ्री व्हीलरों से आने-जाने के लिए मजबूर हैं। इसका फायदा थ्री व्हीलर चालक उठाते हैं। न केवल छेड़छाड़ करने का प्रयास करते हैं बल्कि कई बार अधिक किराया भी वसूल करते हैं। नाम न छापने की शर्त पर महिलाओं ने बताया कि या तो कंपनियां कैब या बस की व्यवस्था करे या फिर प्रशासन व्यवस्था कराए। परिवार चलाना है इसलिए बहुत कष्ट सहना पड़ रहा है। सबसे अधिक परेशानी कापसहेड़ा इलाके से उद्योग विहार इलाके में आने वाली महिलाओं को हो रही है।

महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कंपनियों को कैब या बस सेवा उपलब्ध करानी चाहिए। वैसे प्रशासन को चाहिए कि ऐसे इलाकों की पहचान कर सिटी बस सेवा मजबूत बनाए। उन इलाकों की पहचान भी करनी चाहिए जिन इलाकों में कामकाजी महिलाएं अधिक रहती हैं। ऐसे इलाकों में सिटी बस सेवा तत्काल प्रभाव से मजबूत की जाए। किसी घटना का इंतजार क्यों?

- पूनम भटनागर, सामाजिक कार्यकर्ता व अध्यक्ष, दीपशिखा सोसायटी।

महिलाओं की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। उन कंपनियों की पहचान करनी चाहिए जो लापरवाही बरत रही हैं। आए दिन महिलाओं के साथ कहीं न कहीं आपराधिक घटनाएं हो रही हैं। ऐसी स्थिति में उनकी सुरक्षा के साथ समझौता नहीं किया जा सकता है। सिटी बस सेवा मजबूत बनाने के ऊपर प्रशासन को ध्यान देना चाहिए।

- राजबाला शर्मा, मेयर, नारी पंचायत

यह कहना गलत है कि अधिकतर गारमेंट्स सेक्टर की कंपनियों में महिलाओं की सुरक्षा के ऊपर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। हां यह सही है कि परिवहन सेवा के ऊपर और अधिक ध्यान दिया जाना आवश्यक है। कंपनियां अपने स्तर पर प्रयास करती ही हैं लेकिन जब तक सार्वजनिक परिवहन सेवा मजबूत नहीं होगी, तब तक बात नहीं बनेगी। सिटी बस सेवा ही समस्या का बेहतर समाधान है।