# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
एनएच पर 11 हजार वोल्टेज की तार गाड़ियों पर गिरी, शहर में 8 घंटे गुल रही बिजली

फतेहाबाद : नेशनल हाइवे पर लाल बती चौक के पास बुधवार सुबह करीब 11 बजे 11 हजार वोल्टेज की तार धमाके के साथ गाड़ियों पर गिर गई। जिससे गाड़ी के बोनट पर आग लग गई। आसपास के दुकानदारों में हड़कंप मच गया। सब स्टेशन 33 केवी के कंट्रोल रूम में भी खराबी आ गई। जिसके बाद पूरे शहर की बिजली गुल हो गई। बिजली निगम के एसडीओ भजन ¨सह कर्मचारियों के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। जिसके बाद पेट्रो¨लग का काम शुरू किया गया। घटना के करीब डेढ़ घंटे बाद उपायुक्त डा.हरदीप ¨सह, एसडीएम सतबीर जांगू, डीएसपी गुरदयाल ¨सह मौके पर पहुंचे और जायजा लिया। डीसी ने बिजली निगम के अधिकारियों को नेशनल हाइवे से गुजरने वाली तारों की रिपोर्ट देने के निर्देश दिए। बिजली निगम के अधिकारियों का कहना हैं कि मुख्य तारों के नीचे गार्डिग के कारण बचाव हो गया नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था।

मामले के अनुसार नेशनल हाइवे पर सिटी क्लीनिक के पास सुबह करीब 11 बजे धमाके के साथ 11 हजार वोल्टेज की तार डा.नेहा मेहता की गाड़ी व एक अन्य टाटा ऐस पर आ गिरी आग लग गई। कार का बोनट जल गया। आसपास के दुकानदारों में हड़कंप मच गया। सब स्टेशन में भी धमाके के साथ बिजली सप्लाई बंद हो गई। एसडीओ भजन ¨सह मौके पर पहुंचे और पेट्रो¨लग का काम शुरू किया गया। भजन ¨सह ने बताया कि पैट्रो¨लग के दौरान पाया गया कि रेस्ट हाऊस के पास पोल के साथ गाड़ी टकरा गई, जिससे तारें आपस में भिड़ गई और उसका एक धमाका लाल बती चौक के पास हुआ और तारें स्पार्किंग के कारण टूट कर गिर गई।

--8 घंटे गुल रही शहर में बिजली

11 हजार वोल्टेज की तार टूटने से इसका असर 33 केवी सब स्टेशन के प्रोटेक्शन सिस्टम पर पड़ा। जिससे शहर की बिजली गुल हो गई। एसडीओ भजन ¨सह ने बताया कि प्रोटेक्शन सिस्टम को ठीक करने के लिए सब स्टेशन की सप्लाई बंद की गई है। इसके अलावा 150 मीटर तक तार बदली गई है। सुबह 11 बजे बंद हुई शहर की सप्लाई शाम 6 बजे तक बाधित रही। जिससे दुकानदारों का काम प्रभावित हुआ।

--गार्डिग न होती तो हो जाता बड़ा नुकसान

11 हजार वोल्टेज की तार के नीचे निगम की तरफ से गार्डिंग तार लगाई हुई है। अधिकारियों के अनुसार जब तारें स्पार्किंग के बाद टूटी तो नीचे लगाई गई गार्डिंग तार से छू गई और उससे बचाव हो गया। अगर तार सीधा नीचे गिरती तो बड़ा हादसा हो सकता था। सबसे बड़ी राहत की बात यह रही कि तार की चपेट में कोई व्यक्ति नहीं आया।

--घटना की सीसीटीवी फुटेज वायरल

नेशनल हाइवे पर गिरी 11 हजार वोल्टेज की तार मामले में सीसीटीवी फुटेज वायरल हो रही है। सिटी क्लीनिक पर लगे कैमरों में ये घटना कैद हुई है। फुटेज के अनुसार हाईवोल्टेज तार गाड़ी के ऊपर गिरी और धमाके के साथ आग लग गई। गनीमत यह रही कि मौके पर कोई मौजूद नहीं था।

--डीसी ने मुख्य मार्गो से गुजरने वाली तारों की रिपोर्ट मांगी

उपायुक्त हरदीप ¨सह ने लाल बत्ती चौक के समीप क्षतिग्रस्त हुई हाई वोल्टेज लाईन का निरीक्षण किया और अधिकारियों को यह लाईन जल्द से जल्द नई तारे से बदलने के निर्देश दिए। उपायुक्त डॉ. हरदीप ¨सह ने बिजली निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे एक दिन के भीतर पूरे जिला में जहां-जहां से भी बिजली की हाई वोल्टेज तारें गुजर रही है, उन स्थानों का सर्वे कर रिपोर्ट उन्हें सौंपे। उन्होंने कहा कि जिस जगह की हाई वोल्टेज तारों के बदलकर नई लगाए जाने या रिपेयर किए जाने की आवश्यकता है, उन जगहों पर तारों को बदलकर या उन्हें रिपेयर करके दुरूस्त किया जाए। डॉ. हरदीप ¨सह ने विभाग के आलाधिकारियों को यह निर्देश भी दिए कि यदि किसी स्थान पर खंभों पर लगी हाई वोल्टेज तार को अंडर ग्राउंड किए जाने की आवश्यकता है, तो इस दिशा में भी विस्तृत अध्ययन कर रिपोर्ट तैयार की जाए।

--रेस्ट हाऊस के पास तारें आपस में भिड़ गई थी, उसका असर लालबती चौक पर हुआ और स्पार्किंग के कारण तार टूट गई। गार्डिंग के कारण बचाव हो गया और बड़ा हादसा टल गया। 33 केवी के प्रोजेक्टशन सिस्टम पर असर पड़ा है जिससे सप्लाई बाधित हुई है, जिसे ठीक करने में कर्मचारी जुटे हुए हैं।