News Description
पीड़ित परिजन नहीं कर पा रहे थे कोई स्वतंत्र निर्णय

पलवल : विपक्षी दलों के नेताओं की दखलंदाजी व बाहरी लोगों के हस्तक्षेप के चलते अपनों को खोने के बाद परिवारों की गुजर-बसर की आस में मृतकों के परिजन कोकोई स्वतंत्र निर्णय नहीं कर पा रहे थे। जिसके चलते शवों को परिजनों के सुपुर्द करने के लिए प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों को खासी मशक्कत करनी पड़ी।

पीड़ित परिजनों को अपनी उपस्थिति दर्शाने के लिए कभी कोई नेता तो कभी कोई नेता पीड़ित परिजनों के इर्द-गिर्द घूमते रहे। ज्यों-ज्यों मामला लंबा खींचता गया, मृतकों के परिजनों ने अधिकारियों के साथ बातचीत कर मामले को सुलझाने की दिशा में कार्य शुरू कर दिया।

एक मृतक के परिजन ने तो विपक्षी नेताओं को यह तक संदेश दे दिया कि जुनैद मामले में विपक्ष के लोगों ने भी मुआवजा दिया था, तो वे उनकी भी सहायता कर दें।