# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
पूर्व विधायक जस्सी से एसआइटी ने की पाच घटे पूछताछ

पंचकूला : 25 अगस्त को राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद पंचकूला में हुई आगजनी और हिंसा मामले में डेरा प्रमुख गुरमीत के समधी व पंजाब कांगेस के पूर्व विधायक हरमिंदर जस्सी बुधवार को एसआइटी के समक्ष पेश हुए।

जस्सी से एसीपी मुकेश मल्हौत्रा की अगुवाई में एसआइटी के अधिकारियों ने करीब पांच घंटे तक पूछताछ की। पूछताछ के दौरान पूर्व विधायक जस्सी से हिंसा के उन्हें जानकारी थी या नहीं के बारे में सवाल पूछे गए, लेकिन उन्होंने कहा कि इस प्रकरण से उनका कोई लेना देना नहीं है। पुलिस को कई सवालों के उन्होंने गोलमोल जबाव भी दिए। पूछताछ के बाद पुलिस ने उन्हें यह कहते हुए भेज दिया कि जरुरत पड़ने पर फिर से बुलाया जाएगा।

पूछताछ के बाद पंजाब के मोड़ मंडी से पूर्व विधायक जस्सी ने मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि उन पर हिंसा का कोई आरोप नहीं है। 25 अगस्त को वह पंचकूला में नहीं थे और उन्हें कानून पर पूरा भरोसा है। इसके अलावा जस्सी ने कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया। पुलिस कमिश्नर एएस चावला ने बताया कि जस्सी से कई सवाल पूछे हैं और उनके जबाव भी मिले है। सच्चाई पता लगाने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने कहा कि पहले कुछ लोग बयान देने से घबरा रहे थे, लेकिन अब उनका हौंसला खुला है। अब हालातों को मद्देनजर रखते हुए ही फैसला किया जाएगा। पूर्व विधायक हरमिंद्र सिंह जस्सी को कुछ समय पूर्व नोटिस दिया गया था। इस पर उन्होंने एसआइटी के एसीपी से फोन पर पारिवारिक कारणों के कारण आने में असमर्थता जताते हुए तीन जनवरी को पेश होने की बात कही थी। चावला के अनुसार जस्सी तीन जनवरी को आ गए हैं। उन्हें कह दिया गया है कि यदि जरुरत पड़ी तो उन्हे दोबारा बुलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि जांच में शामिल होने के लिए हरमिंदर जस्सी सहित कई और लोगों को भी नोटिस भेजे गए हैं। विधायक जस्सी पर आरोप है कि गुरमीत राम रहीम के साथ पूर्व विधायक की तरफ से अपने सुरक्षा गार्ड भेजे थे