News Description
उचित दाम नहीं मिलने पर आलू उत्पादक किसान निराश

आलू की फसल का उचित दाम नहीं मिलने पर आलू उत्पादक किसानों में निराशा है। इस बार आलू की फसल की हुई बेकद्री ने किसानों की उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। आलू उत्पादक किसान राजेंद्र सिंह, हरदीत सिंह काला, अवतार सिंह ईस्सापुर रौणी, नसीब सिंह, जुझार सिंह, रघुवीर सिंह, भाग सिंह बाकरपुर व जरनैल सिंह भाखरपुर आदि ने बताया कि सरकारी नीति सही नहीं होने के कारण किसानों को उसकी फसल का सही दाम नहीं मिलर रहा है।

थोक भाव में आलू दो रुपये किलो के हिसाब से बिक रहा है, जबकि लागत इससे कहीं ज्यादा है। उन्होंने बताया कि प्रति एकड़ पांच हजार रुपये आलू की पुटाई के लिए लेबर व आलू की भराई के लिए 18 रुपये प्रति थैला खरीदना पड़ता है। इसके अलावा बीज, पानी, दवाइयां व बाजार ले जाने तक खर्चा बहुत ज्यादा हो जाता है। किसानों ने बताया कि 90 प्रतिशत छोटे किसानों को जमीन ठेके पर लेनी पड़ती है, जिस वजह से किसान वित्तीय परेशानी झेल रहा है। आलू उत्पादक किसानों ने पंजाब सरकार से उचित भाव तय करने की मांग की है