# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
सीएम अफसरों से विकास घोषणाओं पर मांगेंगे जवाब

सीएममनोहर लाल झज्जर जिले में की गई अपनी विकास संबंधित घोषणाओं का जवाब स्थानीय प्रशासन से मांगेंगे। इसके तहत कार्यों की प्रगति तथा राज्य केंद्र सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं से जिले के लोगों को कितना लाभ मिला इसकी समीक्षा सात जुलाई को सीएम चंडीगढ़ में करेंगे। 

झज्जर जिला के शहरी क्षेत्रों को खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ)बनाने के कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए कार्यवाहक उपायुक्त ने स्थानीय निकाय संस्थाओं के अधिकारियों को निर्देश दिए कि लोगों को शौचालय के प्रयोग के लिए प्रेरित करने के कार्य में तेजी लाई जाए। इसके लिए वार्ड स्तर पर निगरानी समिति को एक्टिव रखा जाए, साथ ही स्वच्छता प्रेरकों को प्रशिक्षण देकर फील्ड में उतारा जाए। इस दौरान स्थानीय निकाय संस्थाओं के अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि बेरी में 90 फीसदी ओडीएफ कार्य पूरा हो चुका है वहीं झज्जर में भी यह अभियान सफलता की ओर बढ़ रहा है। बैठक में स्ट्रे कैटल फ्री कार्यक्रम की भी समीक्षा की गई। 

यहजानकारी झज्जर के कार्यवाहक उपायुक्त डाॅ. नरहरि बांगड़ ने मंगलवार को अधिकारियों की साप्ताहिक में दी। बैठक के दौरान झज्जर जिला में मुख्यमंत्री की घोषणाएं, सीएम विंडो, ओडीएफ(अर्बन), स्ट्रे कैटल फ्री आदि कार्यक्रमों की समीक्षा की गई। डाॅ. बांगड़ ने सीएम विंडो पर दर्ज शिकायतों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी मामलों में प्राथमिकता से कार्य करें और शिकायत पर हुई प्रगति को तुरंत अपडेट कराए।