# रक्षा मंत्रालय ने इजरायल के साथ रद्द की 500 मिलियन डॉलर की मिसाइल डील         # कालेधन पर भारत को जानकारी देंगे स्विस बैंक, पैनल की मंजूरी         # गुजरात चुनाव: कांग्रेस ने जारी की पहली लिस्ट, 77 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान         # दीपिका पादुकोण को जिंदा जलाने पर रखा 1 करोड़ का इनाम         # कश्मीर घाटी में लश्कर के शीर्ष नेतृत्व का सफाया: सेना         # आसमान छू रहे अंडों के दाम, चिकन के बराबर पहुंची कीमतें         # महाराष्ट्र: सड़क किनारे टॉयलेट करते पकड़े गए जल संरक्षण मंत्री राम शिंदे         # चीन में नए भारतीय राजदूत के रूप में आज कार्यभार ग्रहण करेंगे बंबावले         # ICJ चुनाव में भारत को रोकने के लिए ब्रिटेन ने चली गंदी चाल        
News Description
सीएम अफसरों से विकास घोषणाओं पर मांगेंगे जवाब

सीएममनोहर लाल झज्जर जिले में की गई अपनी विकास संबंधित घोषणाओं का जवाब स्थानीय प्रशासन से मांगेंगे। इसके तहत कार्यों की प्रगति तथा राज्य केंद्र सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं से जिले के लोगों को कितना लाभ मिला इसकी समीक्षा सात जुलाई को सीएम चंडीगढ़ में करेंगे। 

झज्जर जिला के शहरी क्षेत्रों को खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ)बनाने के कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए कार्यवाहक उपायुक्त ने स्थानीय निकाय संस्थाओं के अधिकारियों को निर्देश दिए कि लोगों को शौचालय के प्रयोग के लिए प्रेरित करने के कार्य में तेजी लाई जाए। इसके लिए वार्ड स्तर पर निगरानी समिति को एक्टिव रखा जाए, साथ ही स्वच्छता प्रेरकों को प्रशिक्षण देकर फील्ड में उतारा जाए। इस दौरान स्थानीय निकाय संस्थाओं के अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि बेरी में 90 फीसदी ओडीएफ कार्य पूरा हो चुका है वहीं झज्जर में भी यह अभियान सफलता की ओर बढ़ रहा है। बैठक में स्ट्रे कैटल फ्री कार्यक्रम की भी समीक्षा की गई। 

यहजानकारी झज्जर के कार्यवाहक उपायुक्त डाॅ. नरहरि बांगड़ ने मंगलवार को अधिकारियों की साप्ताहिक में दी। बैठक के दौरान झज्जर जिला में मुख्यमंत्री की घोषणाएं, सीएम विंडो, ओडीएफ(अर्बन), स्ट्रे कैटल फ्री आदि कार्यक्रमों की समीक्षा की गई। डाॅ. बांगड़ ने सीएम विंडो पर दर्ज शिकायतों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी मामलों में प्राथमिकता से कार्य करें और शिकायत पर हुई प्रगति को तुरंत अपडेट कराए।