News Description
राजस्थान का पानी हरियाणा में चोरी, अब संयुक्त टीम करेगी निगरानी

सिरसा: नहरी पानी चोरी को रोकने के लिए राजस्थान ने सिरसा प्रशासन से मदद मांगी है। हनुमानगढ़ के कलेक्टर ने सिरसा के अधिकारियों के साथ संयुक्त बैठक कर नहरी पानी चोरी रोकने के मसले को उठाया। नोहर फीडर से करीबन 60 क्यूसेक पानी चोरी होने का मामला सामने आने के बाद दोनों राज्य निगरानी के लिए टास्क फोर्स गठित करने पर सहमत हो गए और दिन रात निगरानी की जाएगी।

हनुमानगढ़ के कलेक्टर दोपहर बाद सिरसा के लघुसचिवालय पहुंचे। यहां उन्होंने सिरसा के उपायुक्त प्रभजोत ¨सह से मुलाकात की। जिसके बाद उपायुक्त ने संबंधित विभाग के अधिकारियों की तत्काल बैठक तलब कर ली। इस बैठक में दोनों जिलों से जुड़े अधिकारी उपस्थित हुए। राजस्थान के नहरी विभाग के अधिकारियों के आंकड़ों के अनुसार सिरसा जिले में 50 से 60 क्यूसेक पानी प्रतिदिन चोरी हो रहा है और हनुमानगढ़ के किसानों को पूरा पानी नहीं मिल पा रहा। उपायुक्त प्रभजोत ¨सह ने इस मामले पर कड़ा संज्ञान लिया और अधिकारियों से पानी चोरी रोकने के एक्शन प्लान पर चर्चा की।

जिला प्रशासन ने सिरसा क्षेत्र में नहरी पानी की चोरी रोकने के लिए दो टीमें बना दी हैं। टीमों में राजस्थान के अधिकारी भी शामिल होंगे और सिरसा पुलिस भी साथ रहेगी। एक टीम दिन में तो दूसरी रात में नहर पर गश्त करेगी और जहां भी नहरी पानी चोरी मिला उसकी शिकायत पुलिस में करते हुए एफआइआर दर्ज करवाई जाएगी। इस नहर में 280 क्यूसेक से अधिक पानी राजस्थान को मिलना चाहिए जबकि उन्हें इससे कम पानी मिल रहा है। जिले के नहर पर पड़ने वाले पांच गांवों में अधिक नहरी पानी चोरी का मामला है। इसलिए यह क्षेत्र अधिक निगरानी पर रहेगा।