# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
अब ससुर के अखाड़े का मान बढ़ाएंगी साक्षी

कुश्ती के दम पर दुनिया में छा चुकी साक्षी मलिक अब अपने ससुर अर्जुन अवार्डी सत्यवान कादियान के अखाड़े का मान बढ़ाएगी। शादी के बाद से ही साक्षी अपने ससुर के अखाड़े में भी अभ्यास कर रही हैं। साक्षी का चयन अगले माह होने वाली विश्व चैंपियनशिप के लिए हुआ है।

सत्यवान अखाड़े में ही अभ्यास करने वाले साक्षी के पति सत्यव्रत कादियान के साथ ही दिल्ली के पहलवान प्रवीन राणा का भी चयन हो चुका है। साक्षी सहित तीनों ही नामी पहलवान इस अखाड़े की शान के लिए लड़ेंगे। साक्षी मलिक की कुश्ती सीखने की शुरूआत छोटूराम स्टेडियम से हुई थी। वहां ईश्वर दहिया के नेतृत्व में प्रशिक्षण पाया।

शादी के बाद से जब तक रोहतक में रही ज्यादातर अभ्यास का समय नई अनाज मंडी के सामने स्थित सत्यवान अखाड़े में बीता। हालांकि साक्षी देश के लिए खेलती हैं, लेकिन अब उनका नाम इस अखाड़े से भी जुड़ गया है। विश्व चैंपियनशिप से पहले साक्षी का लखनऊ में कैंप लगा हुआ है। जबकि सत्यव्रत सोनीपत कैंप में हैं। कुछ ही दिनों बाद स्पेन में लगने वाले कैंप के लिए जाना है।

साक्षी रविवार को लखनऊ से दिल्ली पहुंची थीं। कैंप के बाद पेरिस में 21 अगस्त से होने वाली विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में शिरकत करने के लिए रवाना होंगी। इसलिए साक्षी के ससुर सत्यवान भी उत्साहित हैं कि हमारे तीन पहलवान विश्व चैंपियनशिप में शिरकत करेंगे।

ससुराल में भी सभी की दुलारी बनीं साक्षी

साक्षी की दो अप्रैल को सत्यव्रत कादियान के साथ शादी हुई थी। शादी के बाद से ही ससुराल में भी सभी की दुलारी बन गई हैं। सत्यव्रत की मां व साक्षी की सास इंदु देवी कहती हैं कि कुश्ती के साथ ही भोजन बनाने में भी उतनी ही महारथ हासिल है, जबकि ससुर सत्यवान कहते हैं कि साक्षी ने जो भी आजतक खाना बनाया उसका स्वाद भुलाना मुश्किल होता है। कहते हैं कि यूं तो भोजन खास ही बनाती हैं, लेकिन साक्षी के हाथों से बनी खीर व मिक्स सब्जी का स्वाद भुलाना मुश्किल है।