# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
इन 150 जगहों पर रोज होती है छेड़छाड़, 834 लड़कियां हर दिन होती हैं शिकार

 हरियाणा ‘बेटियों से छेड़छाड़’ से शर्मसार हो रहा है। यहां छेड़छाड़ की रोज 834 घटनाएं होती हैं। अॉपरेशन दुर्गा के दौरान 150 जगहों की पहचान की गई है, जहां हर रोज घटनाएं होती हैं। पकड़े जाने पर 25 हजार से ज्यादा लड़कों के अभिभावक सार्वजनिक रूप से माफी मांग चुके हैं। 10 जुलाई से एक बार फिर ऑपरेशन दुर्गा शुरू होने जा रहा है। इससे पहले 1 मई से 15 जून तक ये ऑपरेशन चलाया गया था। दैनिक भास्कर की यह खास रिपोर्ट इसी अभियान के दौरान सामने आए आंकड़ों पर आधारित है। हमने इस अभियान की कमान संभाल चुके एडीजीपी ओपी सिंह से इसके समाधान को लेकर भी बात की। पेश हैं उनसे हुई बात के कुछ खास अंश...

 
सवाल- आपने ऑपरेशन दुर्गा चलाया, इसका क्या फायदा हुआ?
जवाब-पुलिस हर उस जगह पहुंची, जहां लड़कियां और महिलाओं का आवागमन ज्यादा रहता है। वहां मनचलों को पकड़ा, पूछताछ की और हजारों की परिवार के सामने ही काउंसलिंग की।
सवाल- स्थायी समाधान के लिए क्या होना चाहिए?
जवाब- स्कूल-कॉलेजों से कहा है कि सीसीटीवी लगवाएं। सादी वर्दी में महिला पुलिस कर्मी तैनात कर रहे हैं। ऐसे जगह जहां छेड़छाड़ की जाती है, वर्किंग आवर्स में उसके आस-पास पीसीआर तैनात कर रहे हैं। इसके अलावा जो मनचले हैं, उन्हें वार्निंग दे रहे हैं।
 
सवाल- यह सामाजिक समस्या बन गई है। ऐसे में क्या आप आम लोगों को भी साथ जोड़ रहे हैं?
जवाब- हां। हम हर जिले में 5-5 हजार वॉलिंटियर जोड़ रहे हैं। जो कहीं भी छेड़छाड़ होने पर पुलिस को सूचना देंगे। मोबाइल से फोटो बनाएंगे। उनकी सूचना पर पुलिस तत्काल पहुंचेगी।
 
 
ये हैं छेड़छाड़ की सर्वाधिक घटनाओं वाली जगहें?
- डेढ़ महीने चले पुलिस अभियान में सामने आया कि राज्य के पांच जिलों अंबाला, फरीदाबाद, पंचकूला, करनाल और फतेहाबाद में छेड़छाड़ की सबसे ज्यादा घटनाएं होती हैं।
- अंबाला में पॉलिटेक्निक चौक, सेक्टर-9 मार्केट, जगाधरी गेट, कल्पना चावला गर्ल्स पॉलिटेक्निकल, हर्बल पार्क, एसडी, जीएमएन, एसए जैन, एमएमएस गर्ल्स, सरकारी कॉलेज, इंद्र चौक, इंद्रा पार्क, बस अड्डा, हुडा पार्क शाहपुर, रेलवे स्टेशन, ऑटो स्टैंड, एमएम यूनिवर्सिटी मुलाना, होली, नोहनी, दोसड़ बस स्टैंड, राजीव गांधी कॉलेज, ब्ल्यू बैल सीनियर सेकंडरी स्कूल समेत 25 स्थानों पर सर्वाधिक छेड़छाड़ होती है।
- फरीदाबाद में अग्रवाल कॉलेज बल्लभगढ़, नेहरू महिला कॉलेज सेक्टर-16, केएल मेहता महिला कॉलेज एनआईटी-1, मॉडल सीनियर सेकंडरी स्कूल, कन्या सीनियर सेकंडरी स्कूल, डीएवी कॉलेज और केंद्रीय विद्यालय नंबर-1, एनआईटी नं-4 एअर फोर्स स्टेशन के सामने ऐसी घटनाएं ज्यादा होती हैं।
- पंचकूला में जीएसएसएस रायपुररानी, बस स्टैंड, बस स्टैंड बरवाला, राजकीय महाविद्यालय बरवाला के नजदीक, राजकीय सीनियर सेकंडरी स्कूल पिंजौर के नजदीक, बस स्टैंड पिंजौर, हिंदू स्कूल कालका, राजकीय महाविद्यालय कालका और बस स्टैंड सेक्टर-5 पंचकूला।
- करनाल में डीएवी महिला कॉलेज रेलवे रोड, मार्केट सेक्टर-6, टी-प्वाइंट नजदीक राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय रेलवे रोड, बस अड्डा, बस अड्डा के पीछे कोचिंग सेंटर के पास, डीएवी कॉलेज नगर निगम करनाल कार्यालय के सामने से लेकर एसडी मॉडल स्कूल तक आवारागर्दों के लिए सॉफ्ट प्वायंट है।
- वहीं फतेहाबाद में राजकीय कन्या विद्यालय बाल भवन वाली गली, राजकीय महिला महाविद्यालय भोडिया खेड़ा रोड, राजकीय कन्या हाई स्कूल रतिया और जाखल, राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय भूना और राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय टोहाना के पास ऐसी वारदातें सबसे ज्यादा हैं।