News Description
खाते से उड़े 95 हजार रुपये, बैंक के पास नहीं कोई जवाब

 रोहतक : ग्राम सचिव के पद से रिटायर बुजुर्ग के खाते से 95 हजार रुपये गायब हो गए। यह रुपये किसी एटीएम से नहीं निकाले गए और न ही फोन पर एटीएम कार्ड के बारे में जानकारी लेकर। बुजुर्ग के खाते से बैंक के अंदर से विथ ड्रॉ कागज के माध्यम से निकाले गए। इसका पता तब चला, जब बुजुर्ग ने 2 जनवरी को अपने खाते से पैसे निकलवाने के बाद पासबुक ¨प्रट करवाई।

95 हजार रुपये के निकलने की सूचना मिलते ही बुजुर्ग के होश उड़ गए। बुजुर्ग ने तुरंत ही बैंक अधिकारियों से शिकायत की। अधिकारी दिनभर इसी बात का पता लगाने में व्यस्त रहे कि आखिर पैसे निकले कैसे। देर शाम तक सीसीटीवी फुटेज खंगालने के बाद भी जब कोई सुराग हाथ नहीं लगा तो बैंक अधिकारियों ने पीड़ित से दो दिन का समय मांगा है। वहीं, परिजनों का कहना है कि दो दिन बाद भी जब समस्या का हल नहीं होगा तो वह पुलिस में केस दर्ज कराएंगे।

मदनलाल सोराकोठी में रहते हैं। वह ग्राम सचिव के पद से रिटायर हुए हैं। 02 जनवरी को अपने खाते से पैसे निकालने के लिए वह झज्जर रोड के सामने स्थित सेंट्रल बैंक आफ इंडिया में आए थे। इस दौरान उन्होंने 20 हजार रुपये निकाले। फिर, उन्होंने अपनी पास बुक ¨प्रट करवाई। उन्हें पता चला कि खाते में सिर्फ 9224 रुपये रह गए हैं। उन्होंने अपनी पास बुक चेक की तो पता चला कि खाते से 95 हजार रुपये की राशि निकाली जा चुकी है। यह पैसे उनके खाते से 11 दिसंबर 2017 को निकाले गए हैं। उन्होंने यह बात बैंक अधिकारियों को बताई।

बैंक अधिकारियों ने जांच की तो पता चला कि पैसे विथड्रॉ अर्थात मैनुअली ही निकाले गए। फिर, बैंक अधिकारियों ने सुबह से शाम तक सीसीटीवी फुटेज खंगाले। कागज चेक किए गए। खाताधारक के हस्ताक्षर मिलाए गए। सब सही पाया गया। लेकिन कहीं पैसों के निकलने के बारे में कोई सुराग नहीं लग पाया।