News Description
सिर में चोट लगने से साइको किलर को ब्रेन हेमरेज

फरीदाबाद : एक के बाद एक छह हत्याएं कर पूरे पलवल को दहलाने वाले साइको किलर नरेश के सिर में चोट लगने से उसकी दिमाग की नस फट गई। इससे दिमाग में खून का थक्का जम गया और ब्रेन हेमरेज की स्थिति बन गई। उसकी हालत बेहद नाजुक है और उसके बचने के बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता। राजकीय बादशाह खान अस्पताल में आरोपी का इलाज करने वाले तीन डॉक्टरों की टीम ने इसकी जानकारी दी।

डॉक्टरों का कहना है कि आरोपी को तुरंत आइसीयू की जरूरत थी। बादशाह खान अस्पताल में आइसीयू की सुविधा नहीं है, इसलिए उसे सफदरजंग अस्पताल रेफर किया गया। पलवल में मंगलवार को हत्यारोपी नरेश को पुलिस ने काबू कर लिया था। उसके सिर में चोट लगी थी और वह बेहोशी की हालत में था। उसे पलवल के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां से डॉक्टरों ने उसे बादशाह खान अस्पताल रेफर कर दिया। कड़ी पुलिस सुरक्षा में उसे बादशाह खान अस्पताल लाया गया। उसकी जांच के लिए अस्पताल प्रशासन ने आरएमओ डॉ. विकास, डॉ.संदीप भारद्वाज सहित तीन डॉक्टरों की टीम गठित की। उसे तीसरे फ्लोर पर कैदियों के लिए बने वार्ड में रखा गया। सिर में चोट होने के कारण डॉक्टरों ने उसका सीटी स्कैन कराया, जिसमें दिमाग की नस फटने के कारण खून का थक्का जमने की बात सामने आई। इसलिए अस्पताल प्रशासन ने उसे रेफर करने का निर्णय लिया।

आरोपी की मरहम पट्टी करने वाले व पूरे समय उस पर नजर रखने वाले एक नर्सिंग सहायक ने बताया कि आरोपी करीब पांच घंटे बादशाह खान अस्पताल में रहा। इस पूरे समय वह बेहोश रहा। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने उससे बातचीत की कोशिश की तो उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। बीच-बीच में वह कराहता रहा।

कौतूहल का विषय बना आरोपी : बादशाह खान अस्पताल में आरोपी लोगों के कौतूहल का विषय बना रहा। उसे देखने के लिए लोग अस्पताल में पहुंचने लगे। सुरक्षा को देखते हुए कोतवाली, एनआइटी, एसजीएम नगर सहित तीन थानों की पुलिस बादशाह खान अस्पताल पहुंच गई। कुछ लोग उसे देखने के लिए तीसरे फ्लोर तक जाने की कोशिश करने लगे, मगर पुलिस ने उन्हें रोक दिया।

आरोपी के सिर में गहरी चोट है। सीटी स्कैन से पता चला कि उसे तुरंत आइसीयू की जरूरत है। इसलिए उसे रेफर करने का निर्णय लिया गया।