# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
एनएमसी के विरोध में चिकित्सकों ने डीसी को सौंपा ज्ञापन

पानीपत : नेशनल मेडिकल कमीशन (एनएमसी) के नियमों में संशोधन की मांग करते हुए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए), पानीपत से जुड़े चिकित्सकों ने मंगलवार को सुबह 6 से शाम 6 बजे तक ओपीडी बंद रखी। आइएमए सेंट्रल व आइएमए हरियाणा के आह्वान पर चिकित्सकों ने काला दिवस मनाते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के नाम एक ज्ञापन जिला उपायुक्त डॉ. चंद्रशेखर खरे को सौंपा ।

आइएमए, पानीपत शाखा के अध्यक्ष डॉ. श्याम कालड़ा के नेतृत्व में पचास से ज्यादा चिकित्सक पूर्वाह्न करीब 11:30 बजे लघु सचिवालय में एकत्र हुए। इसके बाद सभी चिकित्सक जिला उपायुक्त कार्यालय पहुंचे और उनके समक्ष एनएमसी को लेकर विरोध जताया । चिकित्सकों ने डीसी को बताया कि आयोग का गठन होने पर उसमें महज पांच प्रतिशत ऐसे अधिकारियों को जगह मिलेगी जो मेडिकल के क्षेत्र से हैं। बाकी अधिकारी-सदस्य अन्य क्षेत्रों से होंगे। चिकित्सकों की संस्था में बाहरी लोग मंजूर नहीं होंगे। ब्रिज कोर्स के जरिए आयुर्वेद व यूनानी पद्धति के चिकित्सकों को एलोपैथ विधि से मरीजों का इलाज की अनुमति देने और एबीबीएस पासआउट कर चुके चिकित्सकों द्वारा एग्जिट परीक्षा पास करना जरूरी का भी कड़ा विरोध किया गया।

जिला उपायुक्त ने निजी चिकित्सकों की पीड़ा को सक्षम विंडो तक पहुंचाने का आश्वासन दिया। इस मौके पर डॉ. आरपी मित्तल, डॉ. वंदना पाहूजा, डॉ. बीके गुप्ता, डॉ. डीके सिंह, डॉ. केलाल, डॉ. राज रमन, डॉ. प्रीतम अरोरा व डॉ. प्रताप मलिक मौजूद रहे