News Description
मशीन से पता चलेगा अदालती केस का स्टेटस

बहादुरगढ़ : शहर के नवनिर्मित न्यायिक परिसर में मंगलवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश कमल कात ने कियोस्क मशीन का शुभारंभ किया। साथ ही उन्होंने नवनिर्मित कोर्ट काप्लेक्स में मंगलवार से शुरू हुई न्यायिक प्रक्रिया का अवलोकन भी किया। इस मशीन से अदालती केस का स्टेटस भी पता चलेगा।

जिला एवं सत्र न्यायाधीश कमल कात ने कियोस्क मशीन का उद्घाटन करने के बाद उपस्थित अधिवक्ताओं से रूबरू होते हुए कहा कि इस मशीन के चलने से अधिवक्ताओं और परिवादियों को अपने कोर्ट केस से संबंधित स्टेटस व अन्य जानकारियों को लेकर बार-बार कोर्ट के चक्कर लगाने से छुटकारा मिलेगा। उन्होंने कहा कि कियोस्क मशीन के माध्यम से बहादुरगढ़ कोर्ट से संबंधित केस की जानकारी के लिए मशीन में केस संख्या, सीएनआर नंबर, अधिवक्ता का नाम, एफआइआर नंबर और पार्टी के नाम से भी केस की वर्तमान स्थिति का पता लग सकेगा। इससे पहले यह मशीन झज्जार स्थित जिला कोर्ट में लगाई जा चुकी है। इस कियोस्क मशीन के संचालन से परिवादियों व अधिवक्ताओं को अपने केसों से जुड़ी जानकारी तुरंत मिलेगी। इससे उनके समय की बचत भी होगी। मशीन में बहादुरगढ़ कोर्ट से संबंधित जानकारी मिल सकेंगी और इससे जुड़े अधिवक्ता अपना नाम अंकित करके अपने केसों की डिटेल भी पता लगा सकेंगे। उन्होंने कहा कि सभी अधिवक्ता अपनी ई-मेल आइडी पंजीकृत कराना सुनिश्चित करें ताकि केसों का स्टेटस इमेल माध्यम से उनके पास भी पहुंच सके। एसडीजेएम प्रदीप चौधरी ने बताया कि उपमंडल स्तर पर कियोस्क मशीन के प्रभावी ढग से क्रियान्वयन के लिए अधिवक्ताओं एवं परिवादियों को जागरूक भी किया जाएगा ताकि मशीन की उपयोगिता सही ढग से हो सके। उन्होने कहा कि न्यायिक प्रक्रिया को बेहतर ढग से लागू करने के लिए निर्देशों की अनुपालना करने में पूरी तरह से सजग रहेगे। इस अवसर पर सीजेएम व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव राजेश यादव, जेएमआइसी मानसी धिमान व नेहा गुप्ता, जेएमआइसी विवेक कुमार व कौशल यादव, नाजिर नरेद्र कुमार व प्रेमसुख सहित जिला बार एसोसिएशन के प्रधान सतीश छिक्कारा व अन्य अधिवक्तागण उपस्थित थे।