News Description
नववर्ष पर ब्रह्मसरोवर की परिक्रमा

 कुरुक्षेत्र : श्रीकृष्ण कृपा गोशाला एवं सेवा समिति द्वारा नववर्ष के अवसर पर ब्रह्मसरोवर की परिक्रमा आयोजित की गई। इसका शुभारंभ महाआरती स्थल से किया गया और उसके बाद परिक्रमा इसी स्थान पर आकर संपन्न हुई। समिति के पदाधिकारियों ने गीता व बांके बिहारी को शिरोधार्य करके ब्रह्मसरोवर की परिक्रमा की। परिक्रमा के पश्चात संकीर्तन प्रमुख सुनील वत्स, सतीश ढोगरा तथा कर्मचंद चुघ ने कृष्ण भक्ति के भजन गाकर श्रद्धालुओं को मंत्रमुग्ध कर दिया।

परिक्रमा में भारी संख्या में महिलाओं और पुरुष श्रद्धालुओं ने भाग लिया। जिनमें प्रमुख रूप से समिति के प्रधान सुरेश शर्मा, मदन गोपाल शर्मा, रामपाल शर्मा, संकीर्तन प्रमुख सुनील वत्स, मंगत राम मेहता, पूनम मेहता, ज्ञान चंद, राजेश ललित, तिलक राज धमीजा, मीनाक्षी नरुला, सविता वत्स, काव्या, शुभम मित्तल, केके कौशल, लाजवंती प्रमुख रूप से शामिल थी।

परिक्रमा के समापन पर समिति के पदाधिकारी सदस्यों ने ब्रह्मसरोवर की महाआरती में भाग लिया। संकीर्तन प्रमुख सुनील वत्स ने बताया कि गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद की प्रेरणा से प्रत्येक माह श्रीकृष्ण कृपा गोशाला एवं सेवा समिति द्वारा ब्रह्मसरोवर की परिक्रमा की जाती है। यह परिक्रमा विशेष रूप से नववर्ष के उपलक्ष्य में की गई। भगवान से विश्व शांति और भारत की समृद्धि की कामना की गई। उन्होंने बताया कि अब 14 जनवरी को गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद के नेतृत्व में समिति द्वारा ब्रह्मसरोवर की परिक्रमा की जाएगी।